विजय माल्या- नीरव मोदी ये वो 31 लुटेरे हैं जो देश का खजाना लूटकर चंपत हो गए

शेयर करें:

नई दिल्ली. हीरा व्यापारी नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और विजय माल्या समेत 31 भारतीय खजाने के लुटेरे देश से फरार हैं. ये जानकारी सरकार ने संसद में दी है. लोकसभा में लिखित जबाव में विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर ने बताया कि ये वो 31 फरार लोग हैं जिन्होंने देश के खजाने को चूना लगाया और देश से फरार हो गए. इनके खिलाफ सीबीआई और ED की जांच चल रही है.

विजय माल्या हीरा व्यापारी नीरव मोदी, मेहुल चौकसी और विजय माल्या समेत 31 भारतीय खजाने के लुटेरे देश से फरार हैं. ये जानकारी सरकार ने संसद में दी है. लोकसभा में लिखित जबाव में विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर ने बताया कि ये वो 31 फरार लोग हैं जिन्होंने देश के खजाने को चूना लगाया और देश से फरार हो गए.

सीबीआई ने विदेश मंत्रालय से इन लोगों के प्रत्यर्पण के लिए विनती की है. विदेश मंत्रालय ने भी तमाम सहयोगी देशों से इन भगोड़ें लोगों के प्रत्यर्पण के लिए पत्र लिखा है. इन 31 में से 12 लोगों के खिलाफ ED और 19 के खिलाफ सीबीआई की जांच चल रही है. इस दौरान विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर ने बताया कि ब्रिटेन को माल्या समेत अन्य लोगों के प्रत्यर्पण के लिए 16 बार पत्र लिखा गया, जिस पर ब्रिटेन की ओर से कोई कार्रवाई नहीं हुई है. सरकार की ओर से विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर ने बताया कि ऐसे आर्थिक अपराध करने वाले भगोड़ों के संबंध में संसद में भगोड़ा आर्थिक अपराध विधेयक 2018 को आगे बढ़ाने का निर्णय किया है. इस भगोड़े लोगों की पूरी लिस्ट इस प्रकार है.

विजय माल्या, जतिन मेहता, ललित मोदी, नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, रितेश जैन, संजय भंडारी, नितिन जयंती संदेशरा, चेतन जयंतीलाल संदेशरा, धर्मेन्द्र सिंह आनंद, आशीष जोबन पुत्र, प्रीति जोबनपुत्र, सौमित जेना, विजय कुमार, रेवा भाई पटेल, सुनील रमेश रूपाणी, पुष्पेश कुमार वैद्य, सुरेन्द्र सिंह, अंगद सिंह, हरसाहिब सिंह, हरलीन कौर, आशीष जोबनपुत्र, नीशल मोदी अमी, चेतन जयंतीलाल संदेशरा, दीप्ति चेतन संदेशरा, नितीन जयंतीलाल संदेशरा, सभ्य सेठ, नीलेश पारिख, उमेश पारिख, सन्नी कालरा, आरती कालरा, संजय कालरा, वर्षा कालरा, हेमंत गांधी, ईश्वर भाई भट, एम जी चंद्रशेखर, चेरिया वी सुधीर, नौशा कादीजथ और चेरिया वी सादिक