Skip to content

पेंटिंग व्यवसाय से संबंधित जानकारी

Tags:
इस ख़बर को शेयर करें:

Pencil Drawing

पेंटिंग बनाने से पहले आपको पेंटिंग से संबंधित सभी सामान की लिस्ट बना लेनी चाहिए. इसके बाद आप शांति पूर्ण वातावरण वाली जगह का चुनाव करें. पेंटिंग बनाने के लिए जगह का चुनाव करने से पहले नीचे दी गई निम्नलिखित बातों का ख्याल रखें –

● जहां आप पेंटिंग बनाने वाले हैं, वह स्थान साफ सुथरा हो.
● पेंटिंग बनाने के लिए ऐसी जगह का चुनाव करें, जहां आपको कोई डिस्टर्ब ना करें.
● जिस स्थान पर आप पेंटिंग बना रहे हैं, वहां पर शोर शराबा नहीं होना चाहिए.
● जिस स्थान को आप पेंटिंग बनाने के लिए वर्कप्लेस के रूप में इस्तेमाल करने वाले है, वहां पर रोशनी की उचित व्यवस्था होनी चाहिए.
● मुमकिन हो सके तो पेंटिंग बनाने के लिए ऐसे स्थान का चयन करें, जहां पर प्राकृतिक रोशनी और स्वच्छ वायु पहुंच सके.
● पेंटिंग के लिए आप घर की छत, बालकनी या फिर किसी खाली कमरे को इस्तेमाल में ले सकते हैं.

पेंटिंग बनाने से पहले स्टैंड को अपनी लंबाई के अनुसार सेट करें और रंग, ब्रश एवं औजारों की रखने की उचित व्यवस्था करें. इसके बाद आप कैनवास को अच्छे से स्ट्रेच करके फ्रेम पर लगाएं, जिससे आपका पेंटिंग अच्छा बने और आपको कोई दिक्कत ना हो. यदि आप पेंटिंग बनाना सीख रहे हैं तो आप वाटर कलर का उपयोग कर सकते हैं. अन्यथा आप ऑयल कलर का उपयोग ही करें.

ज्यादातर सभी चित्रकार ऑयल रंगों का उपयोग ही करते हैं. ऑयल रंग दिखने में चमकदार एवं आकर्षक होते हैं. इसके अलावा ऑयल रंगों से बनी पेंटिंग को मोड़ कर भी रख सकते हैं. जब आपकी पेंटिंग बनकर तैयार हो जाए तो आप अपनी इच्छा अनुसार एक अच्छे फ्रेम में पेंटिंग को लगाएं. याद रहे! फ्रेम के पीछे पेंटिंग को टांगने की उचित व्यवस्था होना अनिवार्य है. यह तो थी पेंटिंग बनाने से संबंधित कुछ मूलभूत बातें…

यदि आप पेंटिंग व्यवसाय से संबंधित और भी जानकारी चाहते हैं, तो हम आपको बता दें वर्तमान समय में पेंटिंग व्यवसाय जगत प्रतिवर्ष 1000 करोड़ रुपए का व्यवसाय करता है. आपकी जानकारी के लिए बता दे, इन दिनों भारत में कई प्रकार की चित्रकला बनाई जा रही है, जिनमें से मुख्य है फाइन आर्ट (ललित कला), मॉडर्न आर्ट (आधुनिक कला) एवं आभासी कला. भारत के मुख्य चित्रकारों में स्व. एम.एफ. हुसैन, तैयब मेहता, रामकुमार, मकबूल फिदा हुसैन आदि है, इनकी एक चित्रकला (पेंटिंग) की कीमत लाखों में नहीं बल्कि करोड़ों में होती है

पेंटिंग बनाने के लिए ऐसी जगह का चुनाव करें, जहां आपको कोई डिस्टर्ब ना करें. जिस स्थान पर आप पेंटिंग बना रहे हैं, वहां पर शोर शराबा नहीं होना चाहिए. जिस स्थान को आप पेंटिंग बनाने के लिए वर्कप्लेस के रूप में इस्तेमाल करने वाले है, वहां पर रोशनी की उचित व्यवस्था होनी चाहिए.

ड्राइंग करने के लिए के लिए कौन सी पेंसिल प्रयोग की जाती है?
(२) मध्यम: 3H, 2H, H, F, HB, B । (३) मृदु: 2B, 3B, 4B, 5B, 6B, 7B, 8B, 9B, 10B । इनसे काली रेखाएं बनती है। 10B पेंसिल से बनी रेखाएं अन्य मृदु ग्रेडों से अधिक कृष्णवर्णीय होती है।

ड्राइंग कैसे बनाया जाता है?
लोगों की और चेहरे की ड्रॉइंग करना किसी इंसान का चेहरा बनाने के लिए एक बड़ा ओवल शेप और एक क्रॉस (cross) का निशान बना लें: एक उल्टा अंडा बनाएँ, जो नीचे से थोड़ा सा ज्यादा संकरा और ऊपर से थोड़ा ज्यादा चौड़ा हो। फिर, ओवल के अंदर से गुजरती हुई एक वर्टीकल और एक हॉरिजॉन्टल लाइन (क्रॉस) को स्केच कर लें।

ड्राइंग बोर्ड कितने प्रकार के होते हैं?
इंजीनियरिंग ड्राइंग 4 प्रकार की होती है. (i). Mechanical Engineering Drawing or Machine Drawing.

कौन सी पेंसिल बहुत काली होती है?
साधारणतया एचबी पेंसिल ही अधिक काली के लिये काम में ली जाती है। 4 बी पेंसिल से बनाई रेखा अधिक काली होती है।

सबसे बढ़िया पेंसिल कौन सी है?
ग्रेफाइट जितना मुलायम होता जाता है, ब्लैकनेस उतनी ही अधिक होती जाती है। 2B वाली पेंसिल HB से ज्यादा ब्लैक होती है और 9H की तुलना में बहुत ज्यादा ब्लैक होती है। इसी प्रकार 9xxB पेंसिल सबसे ज्यादा ब्लैक होती है। पेंसिल से पेंटिंग एवं आर्ट बनाने वाले कलाकार सबसे ज्यादा इस तरह की पेंसिल का उपयोग करते हैं।

पेंटिंग बनाने के लिए किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, यदि आप नौसिखिए हैं तो आपको पेंटिंग बनाने से पहले क्या क्या सामग्री चाहिए! इस सभी विषयों पर संक्षिप्त में प्रकाश डालेंगे.

आज के दौर में तमाम तरह की चित्रकला की शैलियां भारत में विकसित हो रही हैं. आजकल भारत में एम. एफ. हुसैन जैसी तमाम चित्रकार हस्तियां हैं, जिनकी पेंटिंग लाखों में नहीं बल्कि करोड़ों में बिकती हैं. लेकिन उनकी स्तर का चित्रकार बनने के लिए कड़ा अभ्यास और बहुत समय लगता है. भारत में आजकल तमाम डिग्रीधारी चित्रकार भी है, जो चित्रकला को अपना कैरियर बना चुके हैं.

यदि आप भी चित्रकला (पेंटिंग) बनाने में दिलचस्पी रखते हैं और चित्रकारी को कैरियर के नजरिए से देखते है, तो भारत में ऐसे तमाम art colleges है! जहां से आप प्रोफेशनली चित्रकला को सीख सकते हैं, और यह इंस्टिट्यूट आपको बकायदा डिग्री भी देते हैं.

पेंटिंग बनाने से पहले हमें कुछ बेसिक चीजों का ध्यान रखना जरूरी होता है, जैसे कि अच्छा कैनवास, सही स्टैंड एवं अच्छे ब्रश का चुनाव. यदि आपको इन सभी विषयों पर उचित जानकारी हो जाती है, तो आप पेंटिंग बनाने की शुरुआत कर सकते हैं. हम इस लेख में इन्हीं विषयों पर संक्षेप में प्रकाश डालेंगे.

पेंटिंग के लिए अच्छे स्टैंड एवं कैनवास का चुनाव
पेंटिंग शुरू करने से पहले आपके पास पेंटिंग स्टैंड का होना बहुत जरूरी है. पेंटिंग स्टैंड को आप बाजार से 2000 से 2500 मैं आसानी से खरीद सकते हैं, या फिर आप पेंटिंग स्टैंड को बढ़ाई से अपनी इच्छा अनुसार बनवा सकते हैं. पेंटिंग स्टैंड खरीदते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें जैसे – “स्टैंड हिलता डुलता न हो और उसके पैर छोटे-बडे ना हो”. स्टैंड अच्छा ना होने की स्थिति में आपके पैसे व्यर्थ चले जाएंगे. इसीलिए आप स्टैंड खरीदते समय इस लेख में बताई गई बातों का ख्याल रखें.

अब बात करते हैं, कैनवास की! कैनवास पेंटिंग का वो हिस्सा होता है, जहां पर आप रंगों को अपनी कल्पना के अनुसार जीवंत करते हैं. साफ शब्दों में कहें तो यह एक प्रकार का कपड़ा होता है, जहां पर आप रंगों के माध्यम से पेंटिंग बनाते हैं. एक अच्छा कैनवास अच्छी गुणवत्ता के कपास के धागों से बनाया जाता है. कपास के जिस धागे से कैनवास बनता है, उस धागे में गांठ नहीं होती है.

इन सभी गुणों की वजह से सभी चित्रकार कपास के धागे से बना कैनवास इस्तेमाल करते हैं. एक अच्छे कैनवास पर बनी पेंटिंग को आप मोड़ के कहीं भी रख सकते हैं, या फिर कहीं भी ले जा सकते हैं. पेंटिंग को मोड़ने की स्थिति में अच्छे कैनवास पर बनी पेंटिंग को क्षति नहीं पहुंचती है. मार्केट में आपको कैनवास 500 से 3000 रुपए तक आसानी से मिल जाएगा. एक अच्छी गुणवत्ता का कैनवास 100 सालों से भी अधिक सुरक्षित अवस्था में रहता है.

पेंटिंग के लिए रंगों (Colors) का चुनाव
कैनवास पर रंगों का प्रयोग करते समय सावधानी बरतें, क्योंकि कैनवास से रंगों को मिटाने के लिए ज्यादा विकल्प नहीं होते हैं. यदि आप पेंटिंग सीखने के शुरुआती दौर में है तो आप स्टूडेंट रंग या फिर वाटर कलर का इस्तेमाल करें, क्योंकि यह रंग ज्यादा महंगे नहीं होते और आसानी से साफ भी हो जाते हैं.

यदि आप प्रोफेशनली पेंटिंग बना रहे हैं तो आप ऑयल कलर का ही इस्तेमाल करें. अच्छे ऑयल कलर थोड़े महंगे मिलते हैं. ऑयल कलर एक ट्यूब 100 मिली मीटर का बाजार में 3500 से 4,000 रुपए में मिल जाता है. यदि आप प्रोफेशनली पेंटिंग पर काम करना चाहते हैं तो ऑयल रंग हमेशा प्रतिष्ठित (ब्रांडेड) कंपनी के ही खरीदें. उदाहरण के लिए – बीपीओ, पेलीकॉन एवं विन्सर न्यूटन आदि.

पेंटिंग के लिए अच्छे ब्रश का चुनाव

एक अच्छी पेंटिंग बनाने के लिए लिए आपको कई प्रकार के ब्रश की जरूरत पड़ती है. उदाहरण के लिए यदि आप पेंटिंग में खुरदरा इफेक्ट डालना चाहते हैं तो आपको बडे एवं सख्त ब्रश का इस्तेमाल करना होता है. यदि आप गहरी और साफ फिनिश रखना चाहते हैं तो आप को मुलायम ब्रश का इस्तेमाल करना होता है. पेंटिंग बनाते समय सभी तरह के ब्रश का सेट होना चाहिए. आपको ब्रश का पूरा सेट मार्केट में 500 से 2000 रुपए में आसानी से मिल जाएगा. यदि आप ऑनलाइन खरीदना चाहते हैं तो यहां से क्लिक करके खरीद सकते हैं.

संबंधित प्रोडक्ट (Marchandise)
यदि आप ऑफिस एवं घर के लिए खूबसूरत पेंटिंग्स एवं अन्य प्रोडक्ट इत्यादि खरीदने में रुचि रखते हैं, तो नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से सभी प्रोडक्ट को देखकर अपनी सहूलियत के हिसाब से खरीद सकते हैं। नीचे दिए गए लिंक से आप कोई भी प्रोडक्ट खरीदते हैं, तो आपको Best Deal और अच्छा डिस्काउंट मिल जाएगा।

The Lutz Method का उपयोग करके कैसे करें Draw Animals – डिज्नी की तरह कार्टून बनाएं 
वॉल्ट डिज़नी को प्रेरित करने वाले व्यक्ति की शिक्षाओं का उपयोग करके 15 मिनट में Animals को कैसे draw किया जाए, इसका अनोखा हुक। “how to draw animals” keyword के लिए high search volume keywords। अन्य उच्च खोज मात्रा वाले कीवर्ड के लिए Free bonus drawing।

स्केच कैसे करें (How To Sketch) 
स्केचिंग की कला सीखने के इच्छुक किसी भी व्यक्ति के लिए एक आसान कोर्स। लेखक अपने तरीके और पिछले कलाकारों के अनुभव और ज्ञान से ड्राइंग और स्केचिंग के बारे में कई सुझाव साझा करता है।

वर्चुअल पोज़ (Virtual Pose) 
Virtual Pose series में कलात्मक पोज़ में शानदार फिगर वाले मॉडल हैं जिन्हें स्क्रीन पर पूरी तरह से 360 डिग्री पर आसानी से घुमाया जा सकता है, प्रिंट किया जा सकता है और प्रक्षेपित किया जा सकता है। न्यूड फिगर वाली मॉडल के साथ काम करना वास्तव में अगली सबसे अच्छी बात है।

इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट पर सरकार प्रतिबंध क्यों लगा रही है? दुनिया के सबसे गंदे इंसान’ अमो हाजी की 94 वर्ष की आयु में मृत्यु अनहोनी के डर से इस गांव में सदियों से नहीं मनाई गई दिवाली धनतेरस के दिन क्यों खरीदते हैं सोना-चांदी और बर्तन? पुराने डीजल या पेट्रोल वाहनों को रेट्रोफिटिंग करवाने से क्या होगा ?