छोड़कर सामग्री पर जाएँ

फेसबुक रील्स बनाकर हर महीने कमायें 3.6 लाख रुपये, बनें चैलेंज का हिस्सा

टैग्स:
इस ख़बर को शेयर करें:

मेटा की ओर से क्रिएटर्स को उनका कंटेंट मॉनिटाइज करने और इसके बदले कमाई करने के कई विकल्प दिए जा रहे हैं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक पर रील्स बनाने वाले क्रिएटर्स के लिए कंपनी पिछले सप्ताह खास चैलेंज लाई है। फेसबुक रील्स बनाने वाले यूजर्स को हर महीने 3.6 लाख रुपये तक कमाने का विकल्प ‘चैलेंजेस’ के साथ दिया जा रहा है। बता दें, यह इनीशिएटिव रील्स प्ले बोनस प्रोग्राम का हिस्सा है।

ओरिजनल कंटेंट के बदले होगी कमाई

  • मेटा ने बताया है कि क्रिएटर्स को रील्स और दूसरे कंटेंट के साथ होने वाली कमाई तय करने का तरीका बदला जा रहा है।
  • कंपनी देखेगी कि क्रिएटर्स का ऑडियंस साइज क्या है और कौन सा क्रिएटर ‘लोगों के साथ जुड़ने वाला हाई-क्वॉलिटी ओरिजनल कंटेंट’ बना रहा है।
  • फेसबुक ‘चैलेंजेस’ भी लेकर आई है, जिसके साथ कंटेंट की मदद से कमाई के नए विकल्प दिए जाएंगे और हर महीने 4,000 डॉलर तक कमाने का मौका मिलेगा।
  • मेटा की ओर से रील्स फीचर सबसे पहले इंस्टाग्राम ऐप में 2019 में लॉन्च किया गया था। ब्राजील पहला देश था, जहां इस फीचर की टेस्टिंग नवंबर, 2019 में ‘सेनास’ नाम से शुरू की गई थी।

हर महीने चैलेंजेस में लेना होगा हिस्सा
प्रोग्राम का हिस्सा बनने वाले क्रिएटर्स को हर महीने मिलने वाले चैलेंजेस से जुड़ी वीडियोज बनाने होंगे। चैलेंज के तौर पर, पांच रील्स पर 100 प्लेज आने के बाद 20 डॉलर का भुगतान किया जाएगा। एक चैलेंज पूरा करने के बाद क्रिएटर के लिए अगला चैलेंज अनलॉक हो जाएगा। उदाहरण के लिए, क्रिएटर ने पहला पांच रील्स का चैलेंज पूरा कर लिया तो उसे 20 रील्स का चैलेंज मिलेगा, जिनपर आने वाले व्यूज के हिसाब से उनकी कमाई बढ़ती जाएगी।

महीने भर बार रीसेट हो जाएगी प्रोग्रेस
कंपनी ने बताया है कि चैलेंजेस के साथ क्रिएटर्स की प्रोग्रेस हर 30 दिन के बोनस पीरियड बाद #1 नंबर पर रीसेट हो जाएगी। इस तरह रील्स बनाने वाले क्रिएटर्स के पास रिवॉर्ड्स जीतने और अतिरिक्त कमाई करने के कई मौके होंगे। हालांकि, इससे जुड़े कुछ नियम भी हैं, जो क्रिएटर्स को प्रोग्राम का हिस्सा बनने के दौरान दिखाए जाएंगे और चैलेंज पूरा करते वक्त क्रिएटर्स को उनका ध्यान रखना होगा।

150 से ज्यादा देशों में मिलता है रील्स फीचर
फेसबुक अपने रील्स फीचर की घोषणा पिछले साल 150 से ज्यादा देशों में कर चुकी है और इसे यूजर्स से अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है। यह फीचर लोकप्रिय शॉर्ट वीडियो शेयरिंग ऐप टिक-टॉक की टक्कर में लाया गया था। आपको बता दें, मेटा रील्स क्रिएटर्स के लिए हाल ही में रीमिक्स, ड्राफ्ट्स और वीडियो क्लिपिंग जैसे कई नए एडिटिंग फीचर्स लेकर आई है। यूजर्स मौजूदा रील्स को टेंपलेट की तरह भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

फेसबुक की गलती से फैलीं अफवाहें
एक दूसरे मामले में बीते दिनों बग के चलते फेसबुक न्यूज फीड के रैंकिंग एल्गोरिद्म में खराबी आ गई। इसके चलते यूजर्स की न्यूज फीड पर ‘अफवाहें और भ्रामक पोस्ट्स’ ज्यादा दिखने लगीं। The Verge की ओर से शेयर किए गए इंटरनल मेमो के मुताबिक, फेक न्यूज को कम करने के बजाय फेसबुक का एल्गोरिद्म उन्हें और ज्यादा अकाउंट्स तक भेजने लगा। इस दौरान फेक न्यूज से जुड़ी पोस्ट्स 30 प्रतिशत तक ज्यादा देखी गईं।

ज्यादा पसंद की गई खबरें:

महिंद्रा की SUV XUV 300 लॉन्च की तो लोगों ने इसे हाथों हाथ लिया
Tip & Tricks : अपने स्मार्टफोन में 'स्विच ऑफ' के बजाय 'नॉट रीचेबल' कैसे सेट करें ?
अपने स्मार्टफोन को एंड्रॉयड 13 पर अपडेट करें? जानें स्टेप बाई स्टेप तरीका
आपके स्मार्टफोन में कम आवाज आने पर अपनाएं ये 5 तरीके हो सकती है आवाज तेज
चीन की पुलिस द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला इस खास चश्मे की क्या है खासियत, पूरी दुनिया में है इसकी ...
WhatsApp Groups में आपकी परमिशन की के बगैर ग्रुप में नहीं जोड़ पाएंगे एडमिन, ऐसे करें सेटिंग
8 सीक्रेट एंड्रॉइड फंक्शन्स जिसके बारे में यूजर्स नहीं जानते
बेहतरीन लग्जरी इंटीरियर वाली इस कार की सवारी हर कोई करना चाहेगा, 7 से 8 लोगों की सीटिंग ऑप्शन
गणेश मुखी रूद्राक्ष पहने हुए व्यक्ति को मिलती है सभी क्षेत्रों में सफलता एलियन के कंकालों पर मैक्सिको के डॉक्टरों ने किया ये दावा सुबह खाली पेट अमृत है कच्चा लहसुन का सेवन श्रीनगर का ट्यूलिप गार्डन वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में हुआ दर्ज महिला आरक्षण का श्रेय लेने की भाजपा और कांग्रेस में मची होड़