यूपी : योगी सरकार ने लागू किया ESMA कानून, अब सरकारी कर्मचारी नहीं कर सकेंगे हड़ताल

शेयर करें:

लखनऊ: कोरोना महामारी से यूपी में भी काफी दिक्कतों का लोगों को सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में यूपी सरकार में कर्मचारी यूनियनों द्वारा लगातार अपनी मांगों को पूरा कराने को लेकर हड़ताल करने की तैयारी चल रही है. इस बीच राज्य की योगी सरकार ने सख्ती अपनाते हुए राज्य में एस्मा (ESMA) लागू कर दिया है. आवश्यक सेवा अनुरक्षण अधिनियम 1966 के लागू होने के साथ ही यूपी में सभी आवश्यक सेवाओं से संबंधित कर्मचारियों के हड़ताल पर रोक लग चुकी है. बता दें कि राज्य सरकार के तहत आने वाली सभी लोक सेवा, निगम, प्राधिकरण व अन्य सरकारी विभागों पर यह आदेश लागू रहेगा.

जानकारी के मुताबिक सरकार ने राज्य में फिलहाल 6 महीने के लिए एस्मा को लागू किया है. आवश्यतानुसार इस अवधि को आगे भी बढ़ाया जा सकता है. वहीं राज्य में अगर हालात सही रहे तो इसे वक्त से पहले भी खत्म किया जा सकता है. बता दें कि इस कानून के राज्य में लागू किए जाने के बाद आवश्यक सेवाओं से संबंधित कर्मचारी हड़ताल पर नहीं जा सकेंगे. सभी कर्मचारियों को इन आदेशों का पालन करना होगा. अति आवश्यक कर्मचारी अगर इस नियम का उल्लंघन करता पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो सकती है.

बता दें कि इस कानून को संकट के समय में कर्मचारियों व यूनियनों द्वारा किए जा रहे हड़तालों को रोकने के लिए इस कानून को साल 1968 में बनाया गया था. यह कानून भारतीय संसद द्वारा पारित है. बता दें कि इस कानून को अधिकतम 6 महीने के लिए लगाया जा सकात है. इस कानून को लगाए जाने के बाद अगर कर्मचारी हड़ताल पर जाते हैं तो इसे कानून का उल्लंघन माना जाता है. साथ ही कर्मचारी को बिना वारंट के गिरफ्तार भी किया जा सकता है.