योगी मंत्रीमंडल में होगा बड़ा फेरबदल, एके शर्मा डिप्टी सीएम तो केशव को मिल सकती है प्रदेश भाजपा की कमान

शेयर करें:

लखनऊ. 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों से पहले प्रदेश की योगी सरकार मे बड़ा फेरबदल देखने को मिल सकता है. राजभवन में योगी सरकार के दूसरे मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारियां शुरू हो गई हैं. बता दें कि इसके लिए प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल मध्य प्रदेश के सभी कार्यक्रम निरस्त करके अचानक लखनऊ पहुंच गईं हैं.

राजभवन में भी तैयारियां शुरू हो चुकी हैं, इससे तय माना जा रहा है कि 28 या 29 मई के बीच योगी सरकार का दूसरा मंत्रिमंडल विस्तार हो सकता है. सूत्रों के मुताबिक, पूर्व IAS और विधानपरिषद सदस्य एके शर्मा को डिप्टी सीएम बनाया जायेगा. साथ ही डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को उत्तर प्रदेश भाजपा की एक बार फिर से कमान सौंपते हुए OBC चेहरे के साथ भाजपा चुनाव में जा सकती है.

दूसरी बार मंत्रिमंडल का होगा विस्तार

आपको बता दें कि 19 मार्च 2017 को योगी सरकार गठन के बाद 22 अगस्त 2019 को योगी सरकार ने मंत्रिमंडल विस्तार किया था. उस दौरान मंत्रिमंडल में 56 सदस्य थे. कोरोना के चलते तीन मंत्रियों का निधन हो चुका है. हाल ही में राज्यमंत्री विजय कुमार कश्यप की कोरोना ने जान ले ली, जबकि पहली लहर में मंत्री चेतन चौहान और मंत्री कमल रानी वरुण का निधन हो गया था.

मालूम हो कि यूपी में कैबिनेट मंत्रियों की अधिकतम संख्या 60 तक हो सकती है. पहले मंत्रिमंडल विस्तार में 6 स्वतंत्र प्रभार मंत्रियों को कैबिनेट की शपथ दिलाई गई थी. इसमें तीन नए चेहरे भी शामिल थे. मौजूदा समय में प्रदेश की योगी सरकार के मंत्रिमंडल में 23 कैबिनेट मंत्री, 9 स्वतंत्र प्रभार मंत्री और 22 राज्यमंत्री हैं, यानी कुल 54 मंत्री हैं. इस हिसाब से 6 मंत्री पद अभी भी खाली हैं. ऐसे में योगी सरकार अगर अपने कैबिनेट से किसी भी मंत्री की नहीं हटाती है, तो भी 6 नए मंत्री बनाए जा सकते हैं.

कायस लगाए जा रहे हैं कि योगी सरकार कैबिनेट में कुछ नए लोगों को शामिल कर प्रदेश के सियासी समीकरण को साधने का दांव चल सकती है. गौरतलब है कि कोरोना महामारी में सिस्टम से उपजे असंतोष और पंचायत चुनावों में मिली हार के बाद से भाजपा की चिंता विधानसभा चुनाव को लेकर बढ़ गई है. बता दें कि यूपी विधानसभा चुनाव में महज आठ महीने का समय बाकी है.