मध्यप्रदेश के इस गांव की महिलाओं ने लगा रखे है कर्फ्यू जैसी पाबंदियां, नहीं है एक भी कोरोना संक्रमित

शेयर करें:

बैतूल : देश में कोरोना बेकाबू हो चुका है. कोरोना पर काबू पाने के लिए देश के कई हिस्सों में लॉकडाउन (Lockdown) और नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) जैसी पाबंदियां लागू हैं. मध्यप्रदेश (MP Lockdown News) भी कोरोना से बेहाल है. मध्यप्रदेश के कई शहरों में लॉकडाउन (Lockdown) जैसी पाबंदियां लागू हैं.

कोरोना से बचाव के लिए सरकार के साथ-साथ आम लोगों को भी इससे बचाव के लिए कड़े फैसले लेने पड़ रहे हैं. मध्यप्रदेश के बैतूल का एक गांव ऐसा भी है, जहां कोरोना का कोई मामला नहीं है. कच्ची शराब के लिए बदनाम इस गांव की महिलाओं ने बागडोर संभाली और पूरे गांव को लॉक कर दिया है. वे खुद लाठी लेकर गांव की निगरानी में जुटी हैं.

बैतूल के चिखलार में इस बार गांव की महिलाओं ने बाहरी लोगों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है. यहीं नहीं वह गांव के करीब से गुजरने वाले स्टेट हाईवे पर भी आने जाने वालों की निगरानी कर रही है. महिलाओं ने बांस का बैरिकेड लगाकर गांव को सील कर दिया है. कोरोना के कहर से बचने के लिए गांव में किसी भी बाहरी व्यक्ति, अतिथि मेहमान का प्रवेश वर्जित कर दिया गया है.

महिलाएं बारी-बारी से चौकीदारी करती हैं और गांव में फालतू घूमने वाले लोगों पर लाठिया बरसाने से भी नहीं चूकती हैं. महिलाओं ने गांव को संक्रमण से बचाने के लिए यह कड़ा फैसला किया है. इसका ही नतीजा है कि गांव में एक भी कोरोना संक्रमित नहीं है.