जिला अस्पताल मे हुई महिला कि मौत के बाद हंगामा

शेयर करें:

सतना @ जिला अस्पताल में एक बार फिर लापरवाही से महिला की मौत है | अचानक हुई महिला की मौत से परिजन और रिशतेदारों ने गुस्से मे आकर अस्पताल में जमकर हंगामा कर दिया | बताया जा रह है कि यहाँ बुखार से पीड़ित एक महिला को नर्स द्वारा इंजेक्शन लगाते हीकुछ देर मे उसकी मौत हो गई | परिजनों और रिशतेदारों के आक्रोश से बचने के लिए नर्स ने खुद को कमरे में बंद कर लिया |

हंगामे की जानकारी लगते ही एस.डी.एम. सहित सी.एस.पी. भारी पुलिस बल के साथ अस्पताल पहुंचे गए | जिसके बाद कमरे में बंद नर्से को बाहर निकाला गया | परिजनों के आक्रोश की शिकार हुई नर्स डरी हुई थी जिससे उसकी तबियत खराब हो गई | जिसको इलाज के लिए एडमिट किया गया | हंगामे को बढ़ता देख अक्रोशित परिजनों को काफी समझने के बाद घटना की जांच कराने का आश्वासन दिया गया, तब जाकर मामला शांत हुआ |

प्राप्त जानकारी के अनुसार बुखार होने पर रेखा सिंह परिहार लगरगवां निवासी को रात में अस्पताल लाया गया था | यहाँ मौजूद डॉक्टर ने रेखा को देखने के बाद मलेरिया टायफाईड कि शिकायत होना बताया और आईसीयू. में भर्ती कर दिया | वार्ड नर्स द्विपिका चतुर्वेदी ने जैसे ही इंजेक्शन लगाया अचानक ही उसकी हालत खराब होने लगी और रेखा सिंह की मौत हो गयी | अचानक मौत से गुस्साए परिजनों ने हंगामा करते हुए नर्स औऱ डॉक्टरों को घेरकर जमकर झूमाझटकी की | इस घटना के बाद हड़कंप मच गया, परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा कर दिया | कई नेता भी अस्पताल पहुँच गए | परिजनों ने डॉक्टर और नर्स पर गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया | मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने मामले की जांच कराने की बात कही तब जाकर मामला शांत हो सका |