पति कि मौत पर पत्नी ने लगाए पुलिस पर आरोप, पुलिस झाड़ रही पल्ला

शेयर करें:

सागर@ राहतगढ़ थाने की पुलिस पर जब एक युवक की मारपीट पर जान लेने का आरोप उसके परिजनों ने लगाया है, शराब के नशे में धुत युवक अपने मोबाइल खोने की रिपोर्ट दर्ज कराने गया था लेकिन सुबह युवक की लाश थाना परिसर में मिली। खुद पुलिस कप्तान ने इस आरोप से किनारा कर पुलिस को निर्दोष बताया है।

मनोज सोनी वार्ड नम्बर तीन में रहता था बीती रात वह अपना मोबाइल खो जाने की शिकायत दर्ज कराने थाने पहुंचा था। इस दौरान मनोज सोनी शराब के नशे में था इसलिए काफी शोर मचा रहा था, उसके साथ उसके परिवार के अन्य लोग भी थे। कुछ देर बाद पुलिस की डांट डपट से परिजन तो चले गए लेकिन मनोज सोनी वही बना रहा।

रात को वह अपने घर नहीं पहुंचा, परिवार के लोग चिंतित हुए उसके बाद ही यह खबर आई कि मनोज की लाश संदिग्ध अवस्था में थाना परिसर में पड़ी है। इस सूचना पर परिवार वाले थाने दौड़ लिए और वहां रोना पिटना मच गया। लाश पर चोटो के निशान थे. इन निशानों को देख मृतक की पत्नी ने राहतगढ़ थाना पुलिस पर आरोप लगाए कि पुलिस की मारपीट से उसके पति की मौत हुई है।

पुलिस ने लाश को वहां से पोस्टमार्टम को रवाना कर दिया। पुलिस कप्तान सत्येन्द्र शुक्ल ने मामले को जांच के आदेश दिए हैं, साथ ही थाना पुलिस का बचाव करते हुए मृतक को शराबी बताया और संभावना जताई कि ज्यादा शराब पीने से उसकी मौत हुई है।