लिज ट्रस जो चुनी गईं ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री

मंगलवार को स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कैसल में लिज ट्रस ब्रिटेन की तीसरी महिला प्रधानमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ लेंगी।

लिज ट्रस ब्रिटेन के इतिहास में प्रधानमंत्री की कुर्सी तक पहुंचने वाली तीसरी महिला भी बन गई हैं। वह अपने प्रतिद्वंदी भारतीय मूल के ऋषि सुनक को 20,927 वोटों से हराया है। 

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के लिए हुई वोटिंग में कंजर्वेटिव पार्टी के कुल 1,72,437 सदस्यों ने मतदान किया था।

इनमें से जहां लिज को 81,326 वोट मिले, वहीं सुनक को 60,399 वोटों से ही संतोष करना पड़ा। इसी तरह 654 वोट निरस्त किए गए। चुनाव में कुल 82.60 प्रतिशत सदस्यों ने मतदान किया था।

इससे पहले पांच राउंड की वोटिंग में सुनक प्रमुख दावेदार माने जा रहे थे, लेकिन लिज ने अंतिम वोटिंग में बाजी मार ली।

26 जुलाई, 1975 को ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड में जन्मी लिज ट्रस का पूरा नाम मैरी एलिजाबेथ ट्रस है। उनके पिता गणित के प्रोफेसर थे और मां नर्स थीं।

उनकी मां ने 1981-1983 में परमाणु निरस्त्रीकरण के लिए तात्कालीन थैचर सरकार के खिलाफ विरोधी अभियान में हिस्सा लिया था। उनकी मां परमाणु हथियार का विरोध करने वाले संगठन की सक्रिय सदस्य थीं।

लिज अपने माता-पिता को लेफ्ट विचारधारा की समर्थक बताती हैं, लेकिन वह खुद कंजर्वेटिव विचारधारा की समर्थक हैं।

लिज ने ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के मेर्टन कॉलेज से दर्शनशास्त्र, राजनीति विज्ञान और अर्थशास्त्र की पढ़ाई की है।

उन्होंने सात साल की उम्र में स्कूल के पूर्व प्रधानमंत्री और अपनी आदर्श और आयरन लेडी मार्गरेट थैचर का रोल प्ले किया था।

उनके भाई के अनुसार, उन्हें बचपन से हार से सख्त नफरत है। खेलते के दौरान वह हार के डर से खेल के बीच से ही भाग जाती थीं। हालांकि, बाद में उन्होंने अपनी कमियों को दूर कर लिया।

लिज ट्रस ने 1996 में स्नातक के बाद कंजर्वेटिव पार्टी का हाथ थामा था। ऑक्सफोर्ड में पढ़ाई के दौरान उन्होंने लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी और विचारधारा को अपना लिया।

उन्हें इससे संतुष्टि नहीं मिली और कॉलेज छोड़ने के बाद कंजर्वेटिव विचारधारा को अपनाते हुए उसी पार्टी में शामिल हो गईं। इसके बाद उन्होंने 2000 और 2005 में चुनाव लड़ा, लेकिन सफलता नहीं मिल पाई। वह पार्टी के कई अहम पदों पर भी रह चुकी हैं।

2010 के चुनावों में कंजर्वेटिव पार्टी के लीडर डेविड कैमरन ने उनको अपना उम्मीदवार बनाया और पार्टी की सुरक्षित सीट साउथ-वेस्ट नॉरफॉक से उम्मीदवार बनाकर चुनावी मैदान में उतार दिया।

ट्रस ने इस सीट पर 13,000 से अधिक वोटों से जीत हासिल करते हुए अपने राजनीतिक करियर की पहली सफलता हासिल की थी। इससे पहले उन्हें 2000 में हेम्सवर्थ वेस्ट यॉर्कशायर और 2005 में भी इसी सीट से बड़ी हार का सामना करना पड़ा था।

सांसद बनने के ठीक दो साल बाद लिज ट्रस को 2012 में ब्रिटेन का शिक्षा मंत्री बनाया गया और 2014 में वह पदोन्नत होकर पर्यावरण सचिव बन गई।

विरोधी उन पर स्टैंड बदलने और ब्रेक्सिट के मुद्दे पर पलटी मारने का आरोप लगाते हैं। इसके बाद भी पार्टी ने 2021 में उन पर बड़ा भरोसा जताते हुए विदेश मंत्री बना दिया। 

कई आरोपों की चलते उन्हें पधानमंत्री बोरिस जॉनसन को अपना इस्तीफा सौंपना पड़ा था। लिज ट्रस ने 2000 में अपने साथी अकाउंटेंट हग ओलेरी से शादी की थी। उनकी दो बेटियां हैं। 

2004 से 2005 के बीच लिज ट्रस का सांसद मार्क फील्ड के साथ एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर भी रहा था। हालांकि, इस अफेयर के बाद भी ओलेरी के साथ उनकी शादी नहीं टूटी।

2022 में ट्रस ने कहा था कि वह ईसाई धर्म और इंग्लैंड के चर्च के मूल्यों पर विश्वास करती हूं, लेकिन इसके बाद भी वह नियमित रूप से धार्मिक नहीं हैं।