ग्राम सहायक और पंचायत सचिव करेंगे पीडीएस के उपभोक्ताओं को राशन का वितरण

शेयर करें:

जबलपुर । सहकारी समितियों एवं उपभोक्ता भंडारों के कर्मचारियों और विक्रेताओं की चल रही हड़ताल को देखते हुये जिले में सार्वजनिक वितरण प्रणाली के खाद्यान्न का वितरण ग्राम सहायक, ग्राम पंचायत सचिव एवं अन्न उत्सव के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों से कराया जायेगा। उपभोक्ताओं को उचित मूल्य दुकानों से खाद्यान्न का वितरण कराने की इस वैकल्पिक व्यवस्था की जिम्मेदारी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों तथा संबंधित क्षेत्र के खाद्य अधिकारियों को दी गई है। इस आशय के निर्देश कलेक्टर कार्यालय की खाद्य शाखा द्वारा जारी कर दिये गये हैं।

अपर कलेक्टर राजेश बाथम की ओर से जारी इस निर्देश में अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों से कहा गया है कि सहकारी समितियों के कर्मचारियों एवं उपभोक्ता भंडारों के विक्रेताओं की हड़ताल से उपभोक्ताओं को खाद्यान्न के वितरण का कार्य प्रभावित न हो इसके लिए उचित मूल्य दुकानों के सेल्समेन के स्थान पर ग्राम सहायक, पंचायत सचिव और अन्न उत्सव के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों के माध्यम से खाद्यान्न वितरण का कार्य संचालित करायें।

निर्देश में कहा गया है कि चूंकि अन्न उत्सव के लिए नियुक्त नोडल अधिकारियों के बायोमैट्रिक पूर्व से ही पीओएस मशीन में दर्ज है इसलिए पीओएस मशीन के संचालन की जिम्मेदारी उन्हें ही दी जाये। निर्देश में साफ तौर पर कहा गया है कि इस कार्य में यदि उचित मूल्य दुकान के दुकानदार अथवा सहकारी समितियों के कर्मचारी व्यवधान करते हैं तो उनके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराकर वैधानिक कार्यवाही की जाये।

निर्देश में अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों से कहा गया है कि उचित मूल्य दुकानों पर उपलब्ध स्कन्ध के सत्यापत हेतु ग्राम सहायक, पंचायत सचिव एवं पटवारी समिति भी गठित करें जो उचित मूल्य दुकान की जानकारी प्राप्त कर पंचनामा तैयार करेगी। यह समिति स्कन्ध की जानकारी का मिलान पीओएस मशीन के द्वारा तथा दुकान पर उपलब्ध स्कन्ध से भी करेगी तथा अपना प्रतिवेदन प्रस्तुत करेगी।

पंजीयन कार्य को बाधित करें तो दूसरे डाटा एंट्री ऑपरेटर नियुक्त करें

सेवा सहकारी समितियों के कर्मचारियों की हडताल से गेंहू उपार्जन हेतु किसानों के पंजीयन का कार्य बाधित न हो इसके लिए भी अपर कलेक्टर श्री बाथम द्वारा निर्देश जारी किये गये हैं। निर्देश में उपायुक्त सहकारी संस्थाओं से कहा गया है कि यदि समितियों द्वारा आउटसोर्स पर नियुक्त डाटा एंट्री ऑपरेटर पंजीयन कार्य को बाधित करते हैं तो उनके स्थान पर नये डाटा एंट्री ऑपरेटर को नियुक्त किया जाये, ताकि यह कार्य निर्बाध रूप से चलता रहे। श्री बाथम ने निर्देश में विपणन समिति के कर्मचारियों जो इस हड़ताल में शामिल नहीं है उनसे भी किसानों के पंजीयन का कार्य कराये जाने का सुझाव दिया है।

अपर कलेक्टर ने हड़ताल के कारण सार्वजनिक वितरण प्रणाली के गरीब हितग्राहियों को खाद्यान्न का वितरण समय पर न हो पाने तथा किसानों का पंजीयन कार्य प्रभावित होने के कारण उपायुक्त सहकारी संस्थाओं को उपभोक्ता भंडारों के विक्रेताओं एवं डाटा एंट्री ऑपरेटरों की सेवा समाप्ति की कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये हैं।