उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने आंध्र प्रदेश को दी सौगात

शेयर करें:

ढांचागत विकास और परिवहन योजनाओं के लिहाज से मंगलवार का दिन आन्ध्र प्रदेश के लिए खासा महत्पूर्ण रहा। राज्य को जल परिवहन से लेकर सड़क परिवहन की कई योजनाओं की सौगात मिली।

सागर माला परियोजना के तहत उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने आंध्र प्रदेश के राजधानी क्षेत्र अमरावती में मुक्तयाल से विजयवाड़ा के बीच अंतर्देशीय जलमार्ग विकसित करने की परियोजना का शिलान्यास किया। उन्होंने विजयवाड़ा में कृष्णा नदी पर राष्ट्रीय जलमार्ग परियोजना के चौथे चरण की आधारशिला रखी। इसके अलावा उन्होंने 145 किलोमीटर की राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना का भी उद्घाटन किया। उपराष्ट्रपति ने राज्य में सात राष्ट्रीय राजमार्गों को देश को समर्पित किया जबकि छह अन्य की आधारशिला रखी।

इस कार्यक्रम में केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग, जहाजरानी एवं जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी, आंध्र प्रदेश के राज्यपाल ईएसएल नरसिम्हा, मुख्यमंत्री चन्द्रबाबू नायडू, केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय में राज्य मंत्री वाईएम चौधरी ने भी हिस्सा लिया।

सागर माला परियोजना के तहत राष्ट्रीय जलमार्ग संख्या चार के पहले चरण में मुक्तयाल और विजयवाड़ा के बीच 82 किलोमीटर लंबे अंतर्देशीय जलमार्ग का निर्माण किया जा रहा है। इसका प्रयोग नये राजधानी नगर अमरावती के निर्माण कार्य में सीमेंट और अन्य सामग्री लाने के लिए किया जाएगा। यह जलमार्ग नदी के माध्यम से महत्वपूर्ण पर्यटन स्थलों और तीर्थस्थलों को भी जोड़ेगा। राष्ट्रीय जलमार्ग संख्या चार के दूसरे चरण में विजयवाड़ा और काकीनाड़ा के बीच नहर नौवहन विकसित किया जाएगा। दोनों चरणों में 315 किलोमीटर लंबे मार्ग का निर्माण होगा जिसकी लागत करीब 7,015 करोड़ रुपये आएगी।