मॉडर्ना ने बनाया बच्चों के लिए वैक्सीन, अगले साल भारत में होगी लॉन्च

शेयर करें:

देश में कोरोना महामारी से लोगों को बचाने को लेकर वैज्ञानिकों व रिसर्चरों द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं. कोरोना की दूसरी लहर ने इन दिनों खूब तबाही मचाई है. इससे पहले की कोरोना की तीसरी लहर आए इसपर चर्चा तेज हो चुकी है. कहा जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर का प्रभाव सबसे ज्यादा बच्चों पर दिखेगा. ऐसे में कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक साबित हो सकती है.

कोरोना की दूसरी लहर में भी बच्चों को कोरोना ने खूब नुकसान पहुंचाया है. लेकिन अब खबर सामने आ रही बै कि वैक्सीन निर्माता कंपनी मॉडर्ना (Moderna) अगले साल तक भारत में सिंगल डोज वैक्सीन लॉन्च कर सकती है. जानकारी के मुताबिक कंपनी इस दौरान 5 करोड़ डोज के सप्लाई के लिए सिपला और दूसरी फार्मा कंपनियों से बातचीत कर रही है.

बता दें कि मॉडर्ना ने हाल ही में बच्चों पर वैक्सीन के तीसरे स्टेज के ट्रायल रिजल्ट को जारी कर दिया है. इस ट्रायल में पॉजिटिव रिस्पॉन्स मिला है. बच्चों पर इस वैक्सीन का सिंगल डोज 100 प्रतिशत तक सुरक्षित पाई गई है. बता दें कि कंपनी ने इस दौरान 3,732 बच्चों पर ट्रायल किया और इन बच्चों की उम्र 12-17 वर्ष के बीच थी. कंपनी की मानें तो जिन बच्चों को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है उन बच्चों में कोरोना के लक्षण नहीं देखने को मिले हैं. वहीं जिन बच्चों को वैक्सीन का सिंगल डोज लगा है उनपर यह वैक्सीन 93 प्रतिशत तक असरदार है.

मॉडर्ना का कहना है कि दूसरे और तीसरे चरण के परिणाम के सामने आने के बाद कंपनी वैक्सीन को बच्चों के लिए मंजूरी दिलवाने के लिए अमेरिका रेगुलेटर बॉडी FDA के पास जून में आवेदन करेगी. बता दें कि भारतीय फार्मा कंपनी भारत बायोटेक भी बच्चों की वैक्सीन पर लगातार काम कर रही है. कंपनी बच्चों के लिए नेजर वैक्सीन बना रही है और इसका ट्रायल भी शुरू किया जा चुका है.