अमेरिका ने यरुशलम को इज़रायल की राजधानी के तौर पर दी मान्यता

शेयर करें:

एक ऐतिहासिक घोषणा में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यरुशलम को इज़रायल की राजधानी के तौर पर मान्यता दे दी है। फ्रांस, इटली , इंग्लैंड समेत आठ देशों ने संयुक्त राष्ट्र से की बैठक बुलाने की मांग की है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव ने कहा यरुशलम की स्थिति इज़रायल और फिलीस्तीन के बीच सीधी बातचीत के जरिए हल की जा सकती है।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने यरुशलम को इस्राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता दे दी है। ट्रंप ने 2016 में अपने चुनाव अभियान के दौरान इसका वादा किया था। कई अरब देशों के नेताओं ने ट्रंप प्रशासन के इस फैसले से पहले से ही संवदेनशील पश्चिम एशिया में तनाव बढ़ने की चेतावनी दी है। अरब नेताओं ने चेताया कि इस फैसले से पश्चिम एशिया और दूसरी जगहों पर व्यापक विरोध प्रदर्शन शुरू हो सकते हैं।

ट्रंप ने कहा कि अमेरिकी सरकार यरुशलम को इस्राइल की राजधानी के तौर पर मान्यता देती है। अमेरिका इसे ऐतिहासिक वास्तविकता को पहचान देने के तौर पर देखता है। अपने बयान में ट्रंप ने तेल अवीव से अमेरिकी दूतावास को यरुशलम स्थानांतरित करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए विदेश मंत्रालय को आदेश भी दिया।