केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का अमेठी में 3 ग्राम सभाओं की सीमा पर बनेगा आशियाना

शेयर करें:

अमेठी. केंद्रीय मंत्री और अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी ने ने वर्ष 2019 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान अमेठी की जनता से वादा किया था कि जब वह अमेठी की सांसद बन जाएंगी तो वह अमेठी में अपना आशियाना भी बनाएंगी. जिससे वह लगातार जनता के बीच में पहुंच सके और उनके सुख दुख में शामिल हो सकें. अपने इसी वादे को पूरा करने के लिए स्मृति ईरानी 22 फरवरी को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दौरे पर पहुंच रही हैं.

जहां पर जनपद मुख्यालय गौरीगंज स्थित उप निबंधक कार्यालय में वह अपने जमीन का बैनामा करवाएंगी. जिसको दृष्टिगत रखते जिलाधिकारी अमेठी अरुण कुमार ने उप निबन्धक कार्यालय का निरीक्षण करते हुए व्यवस्था चुस्त दुरुस्त रखने का निर्देश दिए हैं. आपको बता दें कि स्मृति ईरानी का आवास जनपद मुख्यालय से लगभग 3 किलोमीटर दूर मेदन मवई ग्राम सभा में बनेगा. जिसके लिए 10.5 बिस्वा जमीन को देखकर फाइनल कर लिया गया है. उसी की रजिस्ट्री करवाने के लिए वह अमेठी पहुंच रही हैं.

यह जमीन बांदा-टांडा राष्ट्रीय राजमार्ग पर पूरे रोहिणी पांडेय गांव के पास से टिकरिया मेंदन मवई मार्ग को जाने वाली सड़क पर बंद पड़े मदर डेयरी प्रोजेक्ट के सामने स्थित है. इसमें सबसे बड़ी बात यह है कि यह जमीन सराय भागमानी मिश्रौली और मेदन मवई कुल 3 ग्राम सभाओं की सीमा पर स्थित है. बताया जा रहा है कि भूमि के बनाने की डीड तैयार हो चुकी है जिसमें एक तरफ क्रेता के रूप में स्मृति ईरानी तो दूसरी तरफ विक्रेता के रूप में फूलमती का नाम दर्ज है. इस मामले में विक्रेता के पुत्र गया प्रसाद पांडेय ने बताया कि अमेठी सांसद को आवास बनाने के लिए जमीन देकर मैं अपने आप को गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं.