श्रद्धांजलि कैमरामैन अच्युतानंद साहू : जब ख़बर बनाने वाले ही बन जाते हैं ख़बर

शेयर करें:

ऐसा कम ही होता है जब ख़बर बनाने वाले ही ख़बर बन जाते हैं, मंगलवार की सुबह ऐसी ही दु:खद और दुर्भाग्यपूर्ण रही, जब डीडी न्यूज़ के कैमरामैन अच्युतानंद साहू नक्सलियों के हमले में शहीद हो गए. कैमरामैन अच्युतानंद साहू हमारी टीम के साथ जब छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा इलाके में चुनाव की रिपोर्टिंग करने के लिए नक्सल प्रभावित दूरदराज के गांव में जा रहे थे, तभी रास्ते में नक्सलियों के एक दल ने हमारी टीम पर घात लगाकर हमला किया और इसी हमले में युवा अच्युतानंद और दो जवान शहीद हो गए.

कैमरामैन साहू की शहादत पर पूरे खबर जंक्शन परिवार की ओर से  इस बहादुर सिपाही को शत-शत नमन.

छत्तीसगढ़ में चुनावों की कवरेज के लिए गई डीडी न्यूज़ की टीम पर दंतेवाड़ा के अरनपुर थाना क्षेत्र में नक्सलियों ने हमला किया, जिसमें हमारे कैमरामैन शहीद हो गए साथ ही दो पुलिसकर्मी भी शहीद हुए. हमले में दो पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं. पुलिस की गोलीबारी में दो माओवादी भी मारे गए.

दरअसल डीडी न्यूज की टीम चुनावी तैयारियों का हाल लेने इस नक्सली इलाके में पहुंची थी. पुलिस की टीम के साथ डीडी न्यूज की टीम नीलावाया गांव के लिए रवाना हुई थी. हमले में डीडी न्यूज के संवाददाता धीरज कुमार और लाइटिंग असिस्टेंट मोर मुकुट शर्मा बाल-बाल बचे. उन्होंने बताया कि कैसे करीब 45 मिनट तक चली गोलीबारी में उनकी जान बच सकी.

घटना की जानकारी मिलने के बाद जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घटनास्थल के लिए फौरन ही रवाना हो गए तथा समेली स्थित सुरक्षाबल के शिविर से अतिरिक्त पुलिस दल रवाना किया गया. क्षेत्र में सीआरपीएफ, डीआरजी और एसटीएफ के दलों ने नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी है.

घायल जवानों और शवों को घटनास्थल से बाहर निकाला गया. घायलों को बेहतर इलाज के लिए रायपुर भेजा गया है. पुलिस का साफ कहना है कि ये हमला मीडिया को निशाना बनाकर किया गया. पिछले 15 दिन से मीडिया के लोग चुनाव से पहले दूरदराज के गांवों में जाकर विकास की कहानी लोगों को बता रहे थे, जिससे ये हमला किया गया.

कैमरामैन अच्युतानंद साहू की शहादत डीडी परिवार के लिए बहुत बड़े दुख का दिन है. उनकी शहादत ने पूरे दूरदर्शन परिवार को स्तब्ध कर दिया है. सूचना और प्रसारण मंत्री ने संकट की इस घड़ी में पीड़ित परिवार के साथ मज़बूती से खड़े रहने का एलान किया है. उन्होंने परिवार को 15 लाख की फौरी मदद और शहीद साहू की पत्नी को नौकरी का एलान किया है. प्रसार भारती परिवार ने भी शहीद साहू को याद करते हुए अपनी श्रद्धांजलि दी है.

छत्तीसगढ़ में ये हमला विधानसभा चुनावों के पहले चरण से कुछ दिन पहले ही हुआ है. 90 विधानसभा सीट पर दो चरणों में मतदान होना है. पहले चरण में 18 सीट पर 12 नवंबर को वोटिंग होगी, जबकि दूसरे चरण में 78 सीट पर 20 नवंबर को वोट डाले जाएंगे. चुनाव से पहले नक्सलियों ने ये खूनी खेल खेला है. चुनाव के पहले नक्सलियों का ये खेल नया नहीं है, लेकिन मीडिया पर उनका हमला हैरान करने वाला है.

कैमरामैन अच्युतानंद साहू दूरदर्शन के बेहतरीन कैमरामैन में से एक थे और तमाम कवरेज के दौरान उन्होंने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया था. ओडिशा के बोलांगीर जिले के रहने वाले अच्युतानंद साहू अपनी साहसिक कवरेज के लिए जाने जाते थे.

जम्मू-कश्मीर हो या पूर्वोत्तर का इलाका, बाढ़ हो या भूकंप, आपदा का समय हो या सीमा की कवरेज, हर तरह की परिस्थिति और चुनौतीपूर्ण कवरेज के लिए वे ऑफिस के दिए हर एसाइनमेंट के लिए हर समय तैयार रहते थे. उनकी यही दृढ़ इच्छाशक्ति और चुनौतीपूर्ण स्थितियों में काम करने की ललक उन्हें दूसरों से अलग बनाती थी. उनकी शहादत ने पूरे दूरदर्शन परिवार को स्तब्ध कर दिया है.

सूचना और प्रसारण मंत्री ने हमले की निंदा की है और परिवार के साथ मजबूती से खड़े रहने का एलान किया है. उन्होंने परिवार को 15 लाख की फौरी मदद और शहीद साहू की पत्नी को नौकरी का एलान किया है. प्रसार भारती परिवार ने भी शहीद साहू को याद करते हुए अपनी श्रद्धांजलि दी.