ट्रैवल हिस्ट्री से फैल रहा संक्रमण, रेल्वे स्टेशन में नो मॉस्क-नो एंट्री

शेयर करें:

जबलपुर @ फैल रहे संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी को मिलकर प्रयास करने कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने आज डीआरएम ऑफिस में डीआरएम संजय विश्वास के साथ कोरोना की रोकथाम व बचाव के संबंध में बैठक की।

कलेक्टर शर्मा ने बताया कि किस प्रकार सेकंड फेस में कोरोना संक्रमण का फैलाव हो रहा है और जो कोविड पॉजिटिव आए हैं उनके ट्रैवल हिस्ट्री से यह पता चलता है की ज्यादातर लोग जो बाहर से आए हैं उन्हीं से संक्रमण फैल रहा है। कोरोना के इस बढ़ते प्रभाव को देखते हुए उन्होंने कहा कि यह आवश्यक हो गया है कि इसकी रोकथाम के लिए सभी को मिलजुल कर प्रभावी प्रयास करने की आवश्यकता है। कलेक्टर शर्मा ने कहा कि संक्रमण रोकने के लिए सबसे प्रभावी कदम है कि सभी लोग मास्क का उपयोग करें ।सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं और सैनिटाइजर करें ।इसके साथ ही उन्होंने अपेक्षा व्यक्त की कि रेलवे परिसर पर भी सभी लोग अनिवार्य रूप से मास्क लगाएं और जो गरीब प्रतीत नहीं होते उन्हें मास्क प्रदान करें और जो सक्षम है और मास्क नहीं लगाते हैं उन पर जुर्माना लगाएं। रेलवे में भी सभी को मास्क लगाने के लिए कहा जाए।

कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए सख्त कदम आवश्यक है इसीलिए रेलवे परिसर में नो मास्क नो एंट्री सिस्टम भी अपनाया जाए। रेलवे स्टेशन में थर्मल स्क्रीनिंग के साथ रेपिड सैंपल भी मेन गेट पर सुनिश्चित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि नियमित रूप से यह अनाउंसमेंट चलता रहे कि सभी लोग मास्क लगाएं और जो यात्री बाहर से आए हैं वे 3 दिन तक घर में ही रहे।बाहर ना निकले और कहीं कुछ अस्वस्थता अनुभव करते है तो फीवर क्लीनिक में जाकर चेक कराएं कलेक्टर शर्मा ने कहा कि कहां-कहां फीवर क्लीनिक सेंटर हैं इसके फ्लेक्स भी रेलवे परिसर पर लगाया जाना चाहिए।

उन्होंने विशेष जोर देते हुए कहा कि रेलवे के सभी एंप्लाइज जो 45 वर्ष से अधिक हैं उनका वैक्सीनेशन हो जाए । इसके साथ ही रेलवे हॉस्पिटल में वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए बिस्तर संख्या बढ़ाया जाना चाहिए।उन्होंने कहा कि टैक्सी ड्राइवर को भी मास्क लगवाएं।बैठक के दौरान कहा गया कि नागपुर महाराष्ट्र से आने वाली ट्रेनों में स्क्रीनिंग सख्ती के साथ हो। बैठक के दौरान रेलवे अधिकारियों ने भी कोरोना की रोकथाम व संक्रमण से बचाव में पूरी सहभागिता देने की प्रतिबद्धता जाहिर करते हुये आज ही से कोरोना के रोकथाम के लिए प्रभावी कदम उठाने का निर्णय लिया।