पेट्रोल-डीजल के बढ़े दामों को लेकर प्रदेश सरकार पर तीखा हमला

शेयर करें:

मध्यप्रदेश @ पेट्रोल और डीजल के बढ़े दामों को लेकर नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने केंद्र और प्रदेश सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए जनता को लूटकर अपना खजाना भरने के आरोप लगाए हैं। विपक्ष पार्टी कांग्रेस लगातर पीएम से लेकर सीएम तक सभी को इसका जिम्मेदार ठहरा रही है। ऐसे में नेता प्रतिपक्ष ने आज जारी बयान में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से तत्काल पेट्रोल डीजल पर वेट और टैक्स हटाने की मांग की है। नेता प्रतिपक्ष सिंह ने कहा कि मध्यप्रदेश में तो जनता को दोहरी मार पड़ रही है। एक ओर जहां पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी की जा रही वही प्रदेश सरकार के टैक्स के कारण उसकी कमर बुरी तरह टूट रही है।

प्रदेश में पेट्रोल पर 31 फीसदी वेट के साथ 4 रूपए का अतिरिक्त टैक्स लगाया जा रहा है। इसी तरह डीजल पर 27 फीसदी वेट के साथ डेढ़ रूपए का अतिरिक्त टैक्स लगाया जा रहा है। सरकार ने इससे पिछले दो साल में अन्य राज्यों की तुलना में जनता की जेब काटकर सर्वाधिक 37 प्रतिशत का राजस्व अपने खजाने में जमा किया है।

महंगाई कम करने वाली मोदी सरकार ने पेट्रोल उत्पादों के दाम बढ़ाकर पौने दो लाख करोड़ का इजाफा अपनी आय में किया है। सिंह ने कहा कि इसी तरह केन्द्र सरकार ने पेट्रोलियम उत्पादों पर अप्रत्यक्ष करों से लगभग पौन तीन लाख करोड़ की कमाई की है। वर्ष 2012-13 में जब यूपीए सरकार थी तब पेट्रोलियम उत्पादों पर अप्रत्यक्ष करों से मात्र 98,602 करोड़ रूपए की आय हुई थी। गौरतलब है कि इससे पहले भी कांग्रेस ने मुयख्मंत्री शिवराज सिंह से पूछा था कि क्या पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में वह एक बार फिर साइकिल से मंत्रालय जाएंगे।