बाल विवाह रोकने के लिए तहसील स्तर पर निगरानी दल गठित

शेयर करें:

मुरैना @ प्रति वर्ष अक्षय तृतीया पर बहुत अधिक संख्या में विवाह होते है। इस वर्ष 18 अप्रैल को अक्षय तृतीया है। 18 अप्रैल को बहुत अधिक संख्या में विवाह संपन्न होने जा रहे है। इन विवाहों में बाल विवाह होने की संभावना से इंकार नही किया जा सकता है। बाल विवाह पर पूर्ण अंकुश रहे इसके लिए कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने तहसील स्तर पर निगरानी दल गठित किये है।

निगरानी दल के अध्यक्ष अनुविभागीय अधिकारी राजस्व होगे। दल में सदस्य के रूप में अनुविभागीय अधिकारी पुलिस अथवा सीएसपी सभी संबंधित क्षेत्रों के बाल विकास परियोजना अधिकारी, संबंधित विकास खंड के विकास खंड सशक्तिकरण अधिकारी सभी तहसीलों के तहसीलदार थाना प्रभारी नगर निरीक्षक रहेंगे। गठित दल विवाह आयोजनों में निगरानी के दौरान अथवा अन्यत्र सूचना प्राप्त होने पर बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 के तहत आवश्यक कार्यवाही करेगा।