यूपी में अब शुक्रवार रात्रि से मंगलवार सुबह तक तीन दिन का फुल लॉकडाउन

शेयर करें:

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में बढ़ते कोरोना के मामले को देखते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार ने पूरी तरह से लॉकडाउन का फैसला तो नहीं किया है लेकिन इतना जरूर है कि वीकली लॉकडाउन में एक और दिन का इजाफा कर दिया गया है. यानि अब यूपी में साप्ताहिक लॉक डाउन का दायरा बढे जाएगा और अब शुक्रवार रात से मंगलवार सुबह 7 बजे तक लॉक डाउन रहेगा.

गौरतलब है कि यूपी में हर दिन हजारों की तादाद में कोरोना संक्रमण केस आ रहे हैं और इसके चलते अस्पतालों में बेड और आक्सीजन तक की कमी से पूरा यूपी जूझ रहा है. वहीं दूसरी ओर बाजारों में लोगों की जबरदस्त भीड़ देखी जा रही है. दो दिन के वीकली लॉकडाउन के बावजूद भीड़ अन्य दिनों में बढ़ रही है. इसको देखते हुए योगी सरकार ने अब वीकली लॉकडाउन को एक और दिन बढ़ाने का फैसला लिया है. अभी इस संबंध में ​विस्तृत गाइलाइंस जारी नहीं की गई हालांकि कुछ देर में ही अपडेट आने की उम्मीद है.

बढ़ते कोराना वायरस के मामले को देखते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. अब पूरे प्रदेश में एक दिन नहीं बल्कि दो दिन वीकेंड लॉक डाउन रहेगा. यूपी सरकार के फैसले के मुताबिक वीकेंड लॉक डाउन के तहत अब शनिवार और रविवार दोनों दिन बंदी रहेगी. वीकली लाँकडाउन के दौरान सभी साप्ताहिक बाज़ार, शोपिंग कामपलेक्स बंद रहेंगे. इस लाँकडाऊन के दौरान सेनटाईजेशन का काम किया जाएगा. सरकार ने आवश्यक सेवाओं के लिए छूट दी है.

पिछली बार सरकार ने जब यूपी में लॉकडाउन का ऐलान किया था तो प्रत्येक शनिवार और रविवार को प्रदेश में साप्ताहिक बंदी (कोरोना कर्फ्यू) प्रभावी रहने की बात कही थी. इस दौरान गा. इसके अतिरिक्त जिन जिलों में 500 से अधिक एक्टिव केस हैं, वहां हर दिन रात्रि 08 बजे से अगले दिन प्रातः 07 बजे तक आवश्यक सेवाओं को छोड़कर शेष गतिविधियां प्रतिबंधित की गई थी. वहीं सरकार की ओर से अपील की गई थी कि कोरोना कर्फ्यू को सफल बनाने में हर नागरिक का योगदान दे.

जहां तक जरूरी हो, घर से बाहर न निकलें. पर्व और त्योहार घर पर ही मनाएं. निकलें तो मास्क जरूर लगाएं. सार्वजनिक स्थलों पर भीड़ न हो. इसे कड़ाई से लागू किया जाए. अपील से न मानने वाले लोगों के खिलाफ जुर्माना लगाने की कार्रवाई की बात कही गई थी. कंटेनमेंट जोन और क्वारन्टीन सेंटर के प्राविधानों को सख्ती से लागू किया गया किया गया था. सरकार ने ऐलान के दौरान ये भी कहा था कि लॉकडाउन के दौरान सेनेटाइजेशन का कार्य किया जाएगा.