म्यांमार में मुस्लिमों के हजारों मकान आग के हवाले

शेयर करें:

बंगलादेश। पश्चिमोत्तर म्यांमार में राखिने स्थित रोहिंग्या मुस्लिम बहुल इलाकों में पिछले सप्ताह 2600 से अधिक मकान जला दिये गये। सरकार की ओर से आज यह जानकारी दी गयी। संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी के मुताबिक म्यांमार से करीब 58 हजार 600 रोभहग्या मुस्लिम पड़ोसी देश बंगलादेश भाग गये हैं।

म्यांमार के अधिकारियों ने अराकन रोभहग्य सलवेशन आर्मी (एआरएसए) समूह पर रोहिंग्या मुस्लिमों के मकानों को आग लगा देने का आरोप लगाया है। दूसरी तरफ समूह ने पिछले सप्ताह सुरक्षा चौकियों पर समन्वित हमलों की जिम्मेदारी ली है, हालांकि बंगलादेश भागे रोहिंग्या मुस्लिमों ने इन हमलों के लिए म्यांमार की सेना को यह कहते हुए जिम्मेदार ठहराया है कि सेना उन्हें यहां से बलपूर्वक बाहर करने का प्रयास कर रही है।

म्यांमार की सरकारी एजेंसी ग्लोगल न्यू लाइट के मुताबिक एआरएसए अतिवादियों ने कोतनकाउक, माइनलुत और किकानपीन गांव तथा माउंग्टाव के दो वार्डों में कुल 2625 मकानों में आग लगा दी। सरकार ने एआरएसए को आतंकवादी संगठन घोषित कर रखा है।