नहरों को क्षति पहुंचाने वालों पर होगी कड़ी कार्यवाही – कलेक्टर

शेयर करें:

जबलपुर @ कलेक्टर महेश चन्द्र चौधरी ने बरगी बांध की नहरों को क्षतिग्रस्त करने की मिली शिकायतों पर कड़ी कार्यवाही करने की चेतावनी दी है। आज यहां कलेक्टर कार्यालय में सम्पन्न हुई जिला जल उपयोगिता समिति की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि कम वर्षा के बावजूद बरगी की नहरों से किसानों को सिंचाई हेतु पर्याप्त पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। क्षेत्र के किसानों, जल उपभोक्ता समितियों के पदाधिकारियों और अधिकारियों का यह दायित्व है कि आपस में समन्वय स्थापित कर इसका भरपूर सदुपयोग करें। उन्होंने कहा कि नहरों में तोड़फोड़ या क्षतिग्रस्त करने की हर शिकायत को गंभीरता से लिया जायेगा और दोषी व्यक्तियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

इस अवसर पर पनागर विधायक सुशील तिवारी इंदू ने किसानों की सिंचाई से संबंधित समस्याओं के प्रभावी निराकरण के लिए समन्वय को महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने सूखे जलाशयों को पुन: रिचार्ज करने हेतु ठोस कदम उठाने की आवश्यकता बताई। कलेक्टर ने बैठक में जिले के विभिन्न जलाशयों, बांधों तथा नहरों में उपलब्ध जल स्तर की जानकारी ली। उन्होंने 15 अक्टूबर तक खरीफ के लिए तथा 11 नवंबर से रबी की फसल के लिए पानी मुहैया कराने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने सिहोरा, पनागर और अन्य क्षेत्रों में सिंचित क्षेत्र बढ़ाने के लिए कार्य-योजना तैयार करने के निर्देश उपस्थित अधिकारियों को दिए। उन्होंने नहरों के जल को टेल एण्ड तक पहुंचाने के लिए मैदानी अफसरों एवं स्थानीय समितियों के बीच सामंजस्य बढ़ाने की बात कही। उन्होंने सभी समितियों को अनुरक्षण राशि शीघ्र पहुंचाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि शीघ्र ही “पानी पहुंचाओ अभियान” की शुरूआत की जायेगी इसके लिए गाइडलाइन बनाकर शीघ्र लागू करने की बात कही। उन्होंने सिंचित क्षेत्र में वृद्धि के लक्ष्य को हासिल करने के लिए जरूरी प्रयास सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

कलेक्टर ने कम वर्षा को देखते हुए अधिकारियों से फसल चक्र के चुनाव में कृषकों की सहायता करने की बात कही। उन्होंने खरीफ तथा रबी की फसल बुआई करने वाले कृषकों के पंजीयन सुनिश्चित करने को कहा। चौधरी ने राज्य शासन की भावांतर योजना के प्रचार-प्रसार, इसमें पंजीयन करने तथा फसल बीमा का लाभ लेने के लिए कृषकों को प्रोत्साहित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कृषकों को अपनी जमीन के खातों को आधार से लिंक कराने के निर्देश भी बैठक में दिए। बैठक में नर्मदाघाटी विकास प्राधिकरण के कार्यपालन यंत्री राजेश सिंहल, उप संचालक कृषि एस.के. निगम, विभिन्न सिंचाई समितियों के अध्यक्ष तथा अधिकारीगण उपस्थित थे।