शीतला माता और रतनगढ़ माता मंदिर का भव्य मेला

शेयर करें:

by: Manju Tiwari

ग्वालियर @ नवदुर्गा के अवसर पर ग्राम पंचायत सातउ स्थित शीतला माता मंदिर में आने वाले दर्शनार्थी शांतिपूर्ण वातावरण में श्रृद्धा के साथ माता के दर्शन कर सकें, इसके लिये जिला और पुलिस प्रशासन द्वारा तैयारियाँ पूर्ण कर ली गई हैं। इस बार के मेले में स्वच्छता और सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। साथ ही पॉलीथिन के उपयोग को प्रतिबंधित करने तथा मंदिर के प्रथम मुख्य प्रवेश द्वार से मंदिर परिसर तक एकांकी मार्ग सुनिश्चित करने का निर्णय लिया जा चुका है।

नवरात्रि के पर्व पर बड़ी संख्या में श्रृद्धालु माता के दर्शन के लिये आते हैं। मंदिर परिसर सहित सम्पूर्ण मेला क्षेत्र में स्वच्छता को बनाए रखने के सभी इंतजाम सुनिश्चित किए गए हैं। पर्यावरण को सर्वाधिक नुकसान पहुँचाने वाली पॉलीथिन बैगों के उपयोग को हतोत्साहित किया जायेगा। इसके लिये सभी दुकानदारों और श्रृद्धालुओं को इस बात के लिये प्रेरित किया गया है कि कागज व कपड़े के बैंगों का उपयोग करें। उन्होंने सभी दुकानों के सामने डस्टबिन रखने तथा मंदिर परिसर में चढ़ने वाले फूल, माला, नारियल को भी बड़े कंटेनरों में एकत्रित करने की व्यवस्था के निर्देश मंदिर प्रबंधन को दिए गए हैं। मेले में आने वाले श्रृद्धालुओं के लिये नगर निगम के माध्यम से चलित शौचालय व ग्राम पंचायत के माध्यम से अस्थायी शौचालयों का निर्माण भी कराया गया है।

श्रृद्धालुओं की सुरक्षा और शांतिपूर्ण माहौल में दर्शन कराने के लिये मंदिर के प्रथम प्रवेश द्वार से मुख्य प्रवेश द्वार तक बैरीकेटिंग लगाकर एकांकी मार्ग सुनिश्चित किया गया है। आने वाले श्रृद्धालुओं को उनके जूते-चप्पल रखने के लिये प्रवेश द्वार पर ही व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। मार्ग में पुलिस बल तैनात रहेगा। मंदिर के अंदर तथा मुख्य गर्भगृह में महिलाओं और पुरूषों के लिये पृथक-पृथक लाईनें सुनिश्चित की जायेंगीं। इसके साथ ही मेले में लगने वाले भण्डारों के लिये एसडीएम से पूर्व अनुमति की आवश्यकता होगी। दुकानदारों को सड़क के दोनों ओर स्थल का आवंटन जनपद पंचायत बरई के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और ग्राम पंचायत की टीम द्वारा किया गया है। किसी भी दुकानदार को सड़क पर सामान रखने या बेचने की अनुमति नहीं होगी। दर्शनार्थियों को आकस्मिक चिकित्सा के लिये अस्थायी अस्पताल की व्यवस्था भी की गई है।
श्रृद्धालुओं की सुरक्षा और यातायात व्यवस्था पर विशेष ध्यान
पुलिस अधीक्षक डॉ. आशीष ने कहा कि दर्शन के लिये आने वाले श्रृद्धालुओं की सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। इसके लिये सम्पूर्ण मेला परिसर और मंदिर में सीसीटीवही कैमरे लगाए गए हैं। पुलिस द्वारा एक कंट्रोल रूम भी बनाया जायेगा जो पुलिस के मेन कंट्रोल रूम से 24 घण्टे कनेक्ट रहेगा। मंदिर परिसर सहित सभी प्वॉइंटों पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया जायेगा। मेला परिसर में फायरब्रिगेड और विद्युत की आपूर्ति 24 घण्टे बहाल रखी जायेगी। इमरजेन्सी की स्थिति में मेला प्रबंधन द्वारा पाँच जनरेटर की व्यवस्था भी की जायेगी। मेला परिसर की एक किलोमीटर की परिधि में दो पहिया व चार पहिया वाहनों की अनुमति नहीं होगी। ग्वालियर शहर से जाने वाले वाहनों के लिये बस, टेम्पो और ऑटो, निजी चार पहिया वाहनों और दो पहिया वाहनों के लिये पृथक-पृथक पार्किंग की व्यवस्था रहेगी। इसी प्रकार की व्यवस्था चीनौर-अमरोल की ओर से आने वाले मार्ग पर भी सुनिश्चित की जायेगी।
रतनगढ़ माता मंदिर मेले के लिये भी की व्यवस्था
ग्वालियर और दतिया जिले की सीमा पर सिंध नदी के समीप सिद्धपीठ रतनगढ़ माता मंदिर पर भी नवदुर्गा मेले को दृष्टिगत रखते हुए जिला प्रशासन द्वारा माकूल व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। कलेक्टर राहुल जैन और पुलिस अधीलक्षक डॉ. आशीष द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों को व्यवस्था की जिम्मेदारी सौंपी है। ग्वालियर जिले की सीमा क्षेत्र में रतनगढ़ माता मंदिर पर कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी एसडीएम मुरार एच बी शर्मा को सौंपी गई है। सिद्धपीठ पर सुरक्षा व्यवस्था के प्रभारी अधिकारी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक देहात राजेश त्रिपाठी को बनाया गया है।

त्रिपाठी ने बताया कि रतनगढ़ माता मंदिर पहुँचमार्ग व्यवस्था का प्रभारी रामनरेश पचौरी अनुविभागीय अधिकारी बेहट को बनाया गया है। इसके साथ ही उनके साथ थाना प्रभारी बेहट, हस्तिनापुर, उटीला व बिजौली को भी तैनात किया गया है। मेले में गुम होने वाले यात्रियों की सूचना के लिये प्रथम पार्किंग स्थल के समीप गुमशुदा काउण्टर बनाया गया है। इसके साथ ही चार पहिया और दोपहिया वाहनों के लिये ग्वालियर की ओर से तीन पार्किंग स्थल निर्धारित किए गए हैं। पुलिस द्वारा रनगवां तिराहा, किटटौली तिराहा, देवगढ़ तिराहा, खादी की पुलिया पर फिक्स पिकेट तैनात रहेंगे। इसके साथ ही रतनगढ़ माता मंदिर के कच्चा रास्ता और देवगढ़ गाँव में भी पार्किंग की व्यवस्था पुलिस प्रशासन द्वारा की गई है। मेला अवधि में पुलिस की पाँच मोबाइल पार्टियाँ 24 घण्टे पेट्रोलिंग करेंगीं।