कोरोना संक्रमण: अस्पताल में भर्ती होने के लिए टेस्ट रिपोर्ट होना अनिवार्य नहीं, नई गाइडलाइंस जारी

शेयर करें:

देश इन दिनों कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण अभूतपूर्व संकट का सामना कर रहा है। कई जगहों पर हालात इस कदर बिगड़ चुके हैं कि मरीजों को अस्पतालों में बिस्तर और ऑक्सीजन न मिलने के कारण जान गंवानी पड़ रही है। इस बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोविड देखभाल केंद्रों में मरीजों की भर्ती को लेकर नई गाइडलाइंस जारी की हैं। आइये, जानते हैं कि गाइडलाइंस में क्या बड़ी बातें कही गई हैं।

भर्ती होने के लिए पॉजिटिव रिपोर्ट होना अनिवार्य नहीं
नई गाइडलाइंस में कहा गया है कि अब किसी व्यक्ति के लिए कोविड देखभाल केंद्र में भर्ती होने के लिए कोरोना टेस्ट की पॉजिटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य नहीं होगा। अब अगर किसी व्यक्ति के टेस्ट की रिपोर्ट नहीं आई है और उसमें महामारी के लक्षण देखे जा रहे हैं तो उसे कोविड देखभाल केंद्र, समर्पित कोविड स्वास्थ्य केंद्र या समर्पित कोविड अस्पताल के अलग वार्ड में भर्ती किया जाएगा। लक्षणों की गंभीरता को देखते हुए इसका फैसला होगा।

किसी भी शहर में कराया जा सकेगा इलाज
गाइडलाइंस में यह भी कहा गया है कि कोरोना संक्रमित को किसी भी हाल में इलाज देने से इनकार नहीं किया जाएगा। यह जीवनरक्षक दवाओं और मेडिकल ऑक्सीजन पर भी लागू होगा। भले ही वह किसी दूसरे शहर का निवासी हो।

दस्तावेज न होने पर अस्पताल नहीं कर सकेंगे भर्ती करने से मना
स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से कहा गया है कि कोरोना वायरस के किसी भी मरीज को इस आधार पर भर्ती करने से मना नहीं किया जाएगा कि वह कोई जरूरी पहचान पत्र या दस्तावेज पेश नहीं कर पाया। इसी तरह मरीजों को दूसरे शहर का बताकर भी वापस नहीं भेजा जा सकेगा। गाइडलाइंस में साफ लिखा गया है कि अस्पतालों को जरूरत के हिसाब से सभी कोरोना संक्रमितों को भर्ती करना होगा।

इस तरह की शिकायतें आ रही थी सामने
गौरतलब है कि पिछले कुछ समय से ऐसी शिकायतें आई थीं कि गंभीर रूप से बीमार मरीजों को कोरोना टेस्ट रिपोर्ट न होने के कारण अस्पतालों में भर्ती नहीं किया जा रहा है, जिससे उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है।
इसी तरह कई राज्यों ने भी मरीजों को भर्ती करने को लेकर अपनी-अपनी नीतियां बनाई हुई थीं, जिससे लोगों को मुश्किलें उठानी पड़ रही थी। अब सरकार ने पूरे देश के लिए नई गाइडलाइंस जारी की है।

देश में लगातार बढ़ रही है संक्रमितों की संख्या
भारत में पिछले कुछ दिनों रिकॉर्ड संख्या में लोग संक्रमित पाए जा रहे हैं। इसके चलते स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराने की कगार पर पहुंच गई है। बीते दिन की बात करें तो देश में कोरोना के 4,01,078 नए मामले सामने आए और 4,187 मरीजों की मौत हुई। महामारी की शुरुआत के बाद ये एक दिन में हुईं सबसे ज्यादा मौतें हैं। इसी के साथ देश में संक्रमितों की संख्या 2,18,92,676 पहुंच गई है। इनमें से 2,38,270 लोगों की मौत हुई है।