यूपीटीईटी : शिक्षक पात्रता परीक्षा 28 नवंबर को होगी, 28 दिसंबर को घोषित होगा परिणाम

शेयर करें:

प्रयागराज . उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2021 की तिथि घोषित कर दी गई है. यह परीक्षा 28 नवंबर को दो पालियों में होगी. पहली पाली में सुबह दस से साढ़े 12 बजे के बीच प्राथमिक स्तर की और दूसरी पाली में दोपहर ढाई से पांच बजे के बीच उच्च प्राथमिक स्तर की टीईटी परीक्षा संपन्न होगी. दो दिसंबर को उत्तरमाला जारी की जाएगी और छह तक ऑनलाइन आपत्ति ली जाएगी. 24 दिसंबर को संशोधित उत्तरमाला जारी होगी और 28 दिसंबर को परिणाम घोषित कर दिया जाएगा.

पिछले साल कोरोना के कारण टीईटी परीक्षा नहीं हुई थी. इसकी वजह से शिक्षक भर्ती के प्रतियोगी बड़ी बेसब्री से इस परीक्षा का इंतजार कर रहे थे. कोरोना की दूसरी लहर का असर कम हुआ तो सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से शासन को प्रस्ताव भेजा गया था. जिस पर शासन ने संशोधित प्रस्ताव मांगा था. इस पर सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से 28 नवंबर को परीक्षा संपन्न कराने के लिए प्रस्ताव 16 सितंबर को भेजा गया. शासन ने परीक्षा नियामक प्राधिकारी के 28 नवंबर को टीईटी परीक्षा कराने के प्रस्ताव पर मुहर लगा दी है.

चार अक्तूबर को आएगा विज्ञापन

यूपी टीईटी 2021 परीक्षा का विज्ञापन परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से चार अक्तूबर को जारी होगा. ऑनलाइन आवेदन के लिए रजिस्ट्रेशन सात अक्तूबर से शुरू होगा. रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 25 अक्तूबर है. शुल्क जमा करने की अंतिम तिथि 26 अक्तूबर है. पूर्ण रूप से भरे गए आवेदन का प्रिंट लेने की अंतिम तिथि 27 अक्तूबर है. सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से जिलावार आवेदकों की संख्या जिला विद्यालय निरीक्षक को 26 अक्तूबर तक भेज दी जाएगी. 02 नवंबर को परीक्षा केंद्र का निर्धारण हो जाएगा. यूपीटीईटी के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र सचिव परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से 17 अक्तूबर को वेबसाइट पर अपलोड कर दिया जाएगा. अभ्यर्थी वेबसाइट पर जाकर अपना प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकेंगे.

इस बार टीईटी के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की संख्या पिछले सालों के मुकाबले कम रहेगी, क्योंकि टीईटी प्रमाणपत्र की वैधता अब आजीवन कर दी गई है. पहले इसकी सीमा निर्धारित थी. इसके चलते नए आवेदकों के साथ जिनके प्रमाण पत्र की वैधता समाप्त हो जाती थी, वह भी आवेदन करते थे.