प्रतिभा के धनी विद्यार्थियों का यूपीएससी में चयन के लिए, करेंगे मार्ग आसान – मुख्यमंत्री श्री चौहान

शेयर करें:

विद्यार्थी न समझें स्वयं को अकेला, राज्य सरकार करेगी हरसंभव सहयोग, मिंटो हाल में सम्मानित होंगे इस वर्ष चयनित 37 मेधावी विद्यार्थी

जबलपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षा में चयन के लिए हम रास्ता आसान बनाएँगे। बच्चे जो भी विषय पढ़ना चाहेंगे उसके लिए व्यवस्था की जाएगी। लक्ष्य यह है कि मध्यप्रदेश से अधिक संख्या में बच्चे यूपीएससी के लिए चयनित हों।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मुख्यमंत्री निवास सभाकक्ष में  यूपीएससी में चयनित युवाओं के लिए 13 अक्टूबर को होने वाले सम्मान समारोह की तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। समारोह में लोक सेवा आयोग और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थी भी उपस्थित रहेंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस वर्ष यूपीएससी में चयनित 37 विद्यार्थी  जुनून, कड़ी मेहनत और मजबूत संकल्प का प्रतीक हैं। ये विद्यार्थी अन्य युवाओं के लिए भी प्रेरक हैं। यूपीएससी के साथ ही प्रतियोगी परीक्षाओं के जितने भी तरह के अवसर हैं, राज्य सरकार विद्यार्थियों को अच्छे संस्थानों और महत्वपूर्ण सेवाओं के लिए तैयार करेगी। बैंक, सेना या अन्य क्षेत्रों की प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विशेषज्ञ शिक्षकों और प्रशिक्षकों से विद्यार्थियों को मार्गदर्शन उपलब्ध कराया जायेगा। विशेषज्ञों के माध्यम से विद्यार्थियों को जब टिप्स प्राप्त होंगे तो उन्हें अपनी उम्मीदों को पूर्ण करने में सफलता मिलेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यूपीएससी की प्रारंभिक परीक्षा में चयनित विद्यार्थियों से चर्चा कर यह जानकारी प्राप्त की जाए कि  वे किस तरह का प्रशिक्षण चाहते हैं। साथ ही यह प्रयास  भी हो कि परीक्षा में अंतिम रूप से भी विद्यार्थी चयनित हो जाएँ। इसके लिए आवश्यक सुविधाएँ उपलब्ध करवाई जाएँ। इस दौरान  मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर सचिव मुख्यमंत्री श्रीमती छवि भारद्वाज और आयुक्त जनसंपर्क डॉ. सुदाम खाड़े उपस्थित थे।