कार्य को गंभीरता से लें, नहीं तो कार्यवाही के लिए तैयार रहें -आयुक्त चम्बल संभाग

शेयर करें:

मुरैना @ राजस्व एवं विकास कार्यों की समीक्षा बैठक के दौरान आयुक्त चंबल संभाग डॉ. एम.के. अग्रवाल ने अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि सभी अधिकारी कार्य को गंभीरता से लें एवं समय पर पूरा करें। ऐसा न होने पर उनके विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में गुरूवार को आयोजित बैठक में आयुक्त डॉ. एम.के. अग्रवाल ने राजस्व कार्यों की समीक्षा के दौरान कहा कि जिले में सी.एम. हेल्पलाइन के लंबित प्रकरणों पर विशेष ध्यान दिया जाये।

कुछ ऐसे मामले होते हैं जिन्हें आसानी से निराकृत किया जा सकता है, वे मामले भी उच्च स्तर तक पहुंच जाते हैं। कलेक्टर को भी निर्देश दिए कि टी.एल. बैठक के दौरान अधिकारियों से इस पर चर्चा हो। सभी सी.एम. हेल्पलाइन का एप डाउनलोड करें एवं समय- समय पर इसका प्रिंटआउट निकालकर गंभीरता से निराकरण करें। आयुक्त ने सभी राजस्व अधिकारियों से इस माह एवं आगामी माह मे निराकरण करने योग्य लंबित प्रकरणों का स्पष्ट लक्ष्य भी माँगा। उन्होनें यह भी कहा कि डायवर्सन वसूली, फसल गिरदावरी में शत-प्रतिशत लक्ष्य को भी पूरा किया जाये।

विकास कार्यों की समीक्षा में पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, स्वास्थ्य, महिला बाल विकास, पीएच.ई विभाग की विभिन्न योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की और कार्यों को पूरा करने के लिए आगे की कार्ययोजना पर भी चर्चा की। आयुक्त ने कहा कि सभी विभाग, केवल आँकडे प्रस्तुत न करें, बल्कि इनकी वास्तविकता एवं भविष्य की रणनीति के विषय में बताएँ। उन्होनें कहा कि शासन की विभिन्न कल्याणकारी योजनाएँ संचालित हैं जनता को इनका लाभ मिलना चाहिए। इसके लिए सभी अधिकारी प्रतिबद्ध रहें।

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा के दौरान मनरेगा के तहत निर्माण कार्यों, तालाब निर्माण, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, स्वरोजगार योजना आदि योजनाओं पर चर्चा की। उन्होनें जिला पंचायत सीईओ को निर्देश दिए कि वे सभी कार्यों की मॉनीटरिंग करें एवं सभी जनपद सीईओं द्वारा सही कार्य न करने पर नोटिस भी जारी करें। लक्ष्य से कम आवास एवं शौचालय निर्माण की स्थिति पर सभी जनपद सीईओ को भी फटकार लगाई और आयुक्त ने कहा यदि ऐसी स्थिति रही। अर्थात कार्य में तेजी नहीं आई तो जनपद सीईओ को सेवा से प्रथक भी किया जा सकता है। सभी जनपद सीईओ से आवासों एवं शौचालयों के निर्माण का लक्ष्य भी भरवाया।

स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में आयुक्त ने कहा बीमारी से पीडित व्यक्तियों को स्वास्थ्य लाभ दिलाएँ एवं आम नागरिकों तक योजनाओं को पहुंचाएँ। मानवीय दृष्टिकोंण से कार्यों को पूरा करें। इसी प्रकार महिला एवं बाल विकास एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार, जिला पंचायत सीईओ सोनिया मीणा,अपर कलेक्टर एस.के.मिश्रा, समस्त एस.डी.एम. संबंधित विभागों के जिला अधिकारी एवं तहसीलदार उपस्थित रहें।