तड़वी पटेल सामाजिक कुरीतियो पर लगाये अंकुश

शेयर करें:

झाबुआ @आज पेटलावद एवं झाबुआ में महिला सशक्तिकरण के लिए सामाजिक क्षेत्र के प्रभावी तड़वी पटेल का सहयोग लेने के लिए तड़वी पटेल सम्मेलन आयोजित किया गया। सम्मेलन में तडवी पटेल को संबोंधित करते हुए अधिकारियो ने कहा कि दहेज दापा कम करे, बालिका का विवाह 18 वर्ष से पहले ना करे एवं शिक्षा पूर्ण करवाये, शासन द्वारा बालिकाओं की पढाई के लिए हर विकासखण्ड में कन्या शिक्षा परिसर खोले गये है।

जहां बालिकाओं के रहने, खाने एवं शिक्षा की पूरी व्यवस्था की गई है। उन्हे वहां प्रवेश दिलाये। गांव में शासकीय भवन जो किसी विभाग द्वारा उपयोग में नहीं किया जाता है उसे अपना कार्यालय बनाये और कोटवार के साथ मिलकर समाज को सुधारने के लिए काम करे।

ग्रामीण अपने बच्चो को 18 वर्ष की उम्र तक अच्छे से पालन पोषण करे उन्हें समझाये कि कम उम्र में विवाह ना करे, बच्चे अपनी पढाई पूरी करके अच्छी नौकरी प्राप्त करने के बाद ही विवाह करे ताकि जीवन अच्छा हो सके। समाज की रीति नीति बदलना प्रशासन से संभव नहीं है ये काम तडवी पटेल ही कर सकते है आप सोचे आपके समाज में चल रही कुरीतियों जिनसे समाज का विकास रूकता है उन को दूर करने के लिए प्रयास करे, ताकि समाज में सुधार आये।

गॉव के मजदूर शासन की भवन सह अन्य निर्माण कर्मकार मण्डल योजना में पंजीयन करवाये एवं योजना का लाभ ले। कर्मकार मण्डल योजना में लडकी का विवाह करने के लिए शासन द्वारा 25 हजार रूपये प्रति कन्या अनुदान दिया जाता है। योजना का लाभ लेने के लिए 18 वर्ष से अधिक उम्र में ही लड़की का विवाह करे।

कार्यक्रम में तडवी पटेल ने भी अपने अनुभव साझा किये। तडवीयो ने अपनी बात करते हुए कहा कि दहेज दापा समाजहित में अच्छा नहीं है, यह समझाने के बाद भी जो लोग विवाह में अधिक दहेज ले रहे है उनके विरूद्ध प्रशासन कानूनी कार्यवाही करे, ताकि सजा के डर से दहेज दापा पर अंकुश लगे। कार्यक्रम मे एसडीएम झाबुआ के.सी. परते, तहसीलदार शक्ति सिंह चौहान जिला महिला सशक्तिकरण अधिकारी बघेल, सहित प्रशासनिक अधिकारी तड़वी, पटेल, उपस्थित थे। सम्मेलन समापन के बाद सहभोज का आयोजन भी किया गया।