मेरठ में स्वाइन फ्लू ने दे दस्तक ,पीएसी के जवान पॉजिटिव

शेयर करें:

लखनऊ : चीन में फैले कोरोना का कहर अभी थमा नहीं था कि यूपी के मेरठ में फिर एक बार स्वाइन फ्लू ने अपनी दस्तक दे दी है | मेरठ की पीएसी बटालियन के दो जवान गुरुवार को स्वाइन फ्लू पॉजिटिव पाए गए | बता दें कि पीएसी के १६ जवान पहले ही इसके पॉजिटिव पाए जा चुके हैं | फिलहल स्थानीय अस्पताल में रोगियों का इलाज जारी है | अब तक कुल 18 पीएसी के जवानों को स्वाइन फ्लू होने की पुष्टि हुई है और लगातार जवानों की जांच जारी है |

जिसके बाद सावधानी बरतते हुए मेरठ के स्वास्थ्य विभाग में पीएसी बटालियन में टीम को भेज कर सभी 441 जवानों की स्क्रीनिंग कराई | इससे बचने के लिए स्वस्थ विभाग की टीम ने जवानों को मास्क पहनने को बताए है | साथ ही अगले दस दिन तक उन्हें बाहरी व्यक्तियों से दूर रहने को कहा गया | जो जवान खासी जुकाम से पीड़ित थे उनको भी एक अलग बैरक में रखा गया है | सभी जवानों को टेमी फ्लू मेडिसिन दे दी गयी है |

बता दें कि मेरठ मेडिकल कॉलेज में पीएसी के कुल 21 जवान स्वाइन फ्लू से पीड़ित मरीज भर्ती है. | दो दिन में ही स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या में इजाफा होने के चलते मेरठ के स्वाथ्य विभाग में हड़कंप मचा है | डॉक्टर्स का कहना है कि बदलते मौसम में सभी को सजग रहने की जरूरत है |अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो पायी है कि यह इतनी जल्दी किस चीज से फैला है जो इतने जवान इतनी जल्दी चपेट में आ गए है |

क्या है स्वाइन फ्लू के लक्षण?….

# नाक का लगातार बहना, छींक आना
# कफ, कोल्ड और लगातार खांसी
# मांसपेशियों में दर्द या अकडऩ
# सिर में भयानक दर्द
# नींद न आना, ज्यादा थकान
# दवा खाने पर भी बुखार का लगातार बढऩा
# गले में खराश का लगातार बढ़ते जाना

ऐसे करें बचाव……

# स्वाइन फ्लू से बचाव इसे नियंत्रित करने का सबसे प्रभावी उपाए है।
# इसका उपचार भी अब मौजूद है।
# आराम, खूब पानी पीना, शरीर में पानी की कमी न होने देना
# शुरुआत में पैरासीटामॉल जैसी दवाएं बुखार कम करने के लिए दी जाती हैं।
# बीमारी के बढऩे पर एंटी वायरल दवा ओसेल्टामिविर (टैमी फ्लू) और जानामीविर (रेलेंजा) जैसी दवाओं से स्वाइन फ्लू का इलाज किया जाता है।