छत्तीसगढ़: युवक को थप्पड़ मारने वाले सूरजपुर कलेक्टर को पद से हटाया गया, IAS एसोसिएशन ने भी की निंदा

शेयर करें:

छत्तीसगढ़ सरकार ने सूरजपुर के कलेक्टर रणबीर शर्मा को उनके पद से हटा दिया है। शर्मा पर एक युवक को थप्पड़ मारने और उसका मोबाइल तोड़ने का आरोप है। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। हालांकि, कलेक्टर ने बाद में अपने बर्ताव के लिए माफी मांगी थी, लेकिन लोग लगातार उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे। अब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने रणबीर शर्मा को उनके पद से हटा दिया है।

क्या है मामला?
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शर्मा ने शहर में लागू लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर एक युवक को थप्पड़ मारा था। वीडियों में दिख रहा है कि कलेक्टर की मौजूदगी में सुरक्षाकर्मी एक युवक की डंडे मार रहे हैं। युवक ने मास्क पहना हुआ था और वह कुछ कागजात भी दिखा रहा था। इसी बीच कलेक्टर सुरक्षाकर्मियों से उसके खिलाफ FIR दर्ज करने की बात कहते हैं। थोड़ी देर बाद वो युवक से मोबाइल लेकर उसे जमीन पर फेंक देते हैं।

यहां देखिये घटना का वीडियो

ट्विटर पोस्ट

पहले किया खुद का बचाव
वीडियो के वायरल होने के बाद जब भास्कर ने शर्मा से बात की तो उन्होंने कहा कि वो शनिवार को जिले में पूर्ण लॉकडाउन का पालन करवा रहे थे, लेकिन कुछ लोग लापरवाही कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वो लड़का कभी खुद को नाबालिग कह रहा था, कभी दवा लेने की तो कभी टेस्ट करवाने की बात कर रहा था। वीडियो में केवल डंडा मारने वाले हिस्से को ही जानबूझकर वायरल किया जा रहा है।

फिर मांगी माफी
वीडियो वायरल होने और मामले के तूल पकड़ने के बाद कलेक्टर रणबीर शर्मा ने माफी मांगी। उन्होंने बयान में कहा, “आज सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल है, जिसमें मुझे एक आदमी को थप्पड़ मारते हुए दिखाया गया है। आज के व्यवहार के लिए मैं दिल से माफी मांगता हूं। उस व्यक्ति का अनादर करने का मेरा कोई इरादा नहीं था।” राज्य के सभी कर्मचारी कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने दिए तत्काल पद से हटाने के निर्देश
मामले के तूल पकड़ने के बाद छत्तीसगढ़ सरकार ने शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटा दिया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया, ‘सोशल मीडिया के माध्यम से सूरजपुर कलेक्टर रणबीर शर्मा द्वारा एक नवयुवक से दुर्व्यवहार का मामला मेरे संज्ञान में आया है। यह बेहद दुखद और निंदनीय है। छत्तीसगढ़ में इस तरह का कोई कृत्य कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कलेक्टर रणबीर शर्मा को तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिए हैं।’

IAS एसोसिएशन ने भी की निंदा
बघेल ने अगले ट्वीट में लिखा, ‘किसी भी अधिकारी का शासकीय जीवन में इस तरह का आचरण स्वीकार्य नहीं है। इस घटना से क्षुब्ध हूँ। मैं नवयुवक व उनके परिजनों से खेद व्यक्त करता हूँ।’ IAS एसोसिएशन ने भी रणबीर शर्मा के व्यवहार की निंदा की है। एसोसिएशन ने ट्वीट कर लिखा कि यह व्यवहार अस्वीकार्य, सेवा और सभ्यता के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है। सिविल सेवकों को सहानुभूति रखनी चाहिए और समाज को एक उपचारात्मक स्पर्श प्रदान करना चाहिए।