विदेश नीति में साझा प्रगति पर ज़ोर: पीएम

शेयर करें:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, देश का विकास, भारतीयों का कल्याण और दुनिया में साझा प्रगति और समृद्धि है केंद्र सरकार की विदेश नीति का मुख्य केंद्र। एक समाचार पत्र को दिए साक्षात्कार में पीएम ने रखे तमाम मुद्दो पर अपने विचार।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक अंग्रेजी दैनिक को दिए साक्षात्कार में सरकार की विदेश नीति में देश का विकास, भारतीयों का कल्याण और दुनिया में साझा प्रगति और समृद्धि की तस्वीर पेश की है। उन्होंने कहा कि सरकार का ज़ोर निर्माण और सेवा क्षेत्र में रोज़गार पैदा करने पर है।

उन्होंने कहा कि तकनीक के उपयोग के ज़रिए उत्पादकता और कार्यक्षमता में इजाफा हो रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भविष्य की पीढ़ियों को बेहतर जीवन देने के लिए आयुष्मान भारत, बेहतर शिक्षा, कार्य कुशलता और सभी के लिए आवास सुविधा पर ध्यान दिया जा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों में मूलभूत ढ़ांचे के विकास पर खासा ध्यान दिया जा रहा है। इसमें उड़ान योजना भी शामिल है, जिसके ज़रिए इन शहरों के लोग हवाई सेवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस सुविधाओं से मेट्रो शहरों की अर्थव्यवस्था और मज़बूत होगी। पीएम ने कहा कि बड़े शहर विकास का इंजन होते है। इसीलिए इन शहरों में ढांचागत सुविधाओं पर ख़ास तवज्जों दी है।

पीएम मोदी ने कहा कि दूसरी और तीसरी श्रेणी के शहरों में मूलभूत ढ़ांचे के विकास पर खासा ध्यान दिया जा रहा है। इसमें उड़ान योजना भी शामिल है। इस योजना से सम्पर्क को बढ़ावा देकर इन शहरों को विकास की नई ऊंचाइयों पर ले जाना चाहते है। पीएम ने कहा कि मुद्रा योजना के तहत हम अभी तक 13 करोड़ से भी ज्यादा का ऋण मुहैया करा चुके है और स्टार्ट-अप जो शुरू किए जा चुके है।