खरीदी के लिए तय दिशा-निर्देशों का कड़ाई से करें पालन एसएमएस मिलने पर ही किसान उपज लेकर खरीदी केन्द्र पहुंचे: कलेक्टर

शेयर करें:

जबलपुर। कलेक्टर भरत यादव ने रबी उपार्जन वर्ष 2020-21 के तहत समर्थन मूल्य पर किसानों से गेहूं की खरीदी के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये हैं और इन निर्देशों का कड़ाई से पालन कराने की हिदायत उपार्जन व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को दी है। इस बारे में जारी आदेश में कलेक्टर ने किसानों से भी आग्रह किया है कि एसएमएस प्राप्त होने पर ही वे अपनी उपज लेकर खरीदी केन्द्रों पर पहुंचे । उन्होंने खरीदी केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का अनुरोध भी किसानों से किया है ।

श्री यादव ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर इस बार पिछले वर्ष की अपेक्षा करीब-करीब दोगुने गेहूं खरीदी केन्द्र बनाये जा रहे हैं । ताकि सभी खरीदी केन्द्रों पर ज्यादा लोग एक साथ एकत्र न हो सकें और सभी जरूरी सावधानियां बरती जा सकें ।

कलेक्टर श्री यादव ने गेहूं खरीदी को लेकर जारी दिशा-निर्देशों में कहा है कि खरीदी केन्द्रों पर केवल एसएमएस प्राप्त किसानों की उपज की ही तौल की जाये । उन्होंने व्हाट्स एव के माध्यम से प्रारूप निर्धारित कर किसानों से जरूरी जानकारी प्राप्त करने और उसी के मुताबिक एसएमएस शेड्यूल करने के निर्देश दिये हैं । श्री यादव ने कहा कि किसानों को दूरभाष से भी एसएमएस प्रापत होने पर खरीदी केन्द्र पर उपज लेकर पहुंचने की सूचना दी जाये ।

कलेक्टर ने दिशा-निर्देशों के प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर पर्याप्त संख्या में तौल-कांटे एवं हम्माल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिये हैं ताकि किसानों को उपज की तौल के लिए इंतजार न करना पड़े । उन्होंने खरीदी केन्द्रों पर मौजूद किसानों, हम्मालों एवं खरीदी केन्द्र के कर्मचारियों के बीच तीन मीटर की दूरी सुनिश्चित रखने कहा है ।

कलेक्टर ने कहा है कि गेहूं के परीक्षण, तौल पर्ची एवं बिल जारी करने वाले कर्मचारियों के पास भी एक से अधिक कृषक उपस्थित न हों इसके लिए काउंटर के सामने तीन मीटर की दूरी पर चूने के गोले बनाये जायें ।

उन्होंने यथासंभव वृद्ध एवं बीमार कृषकों को खरीदी केन्द्र पर उपस्थित होने से बचाने के लिए उनके द्वारा नामित व्यक्ति के माध्यम से उनकी उपज की विक्रय की व्यवस्था कराने की सलाह भी दी है । श्री यादव ने कहा कि इसके बावजूद यदि ऐसे कृषक खरीदी केन्द्र पहुंचते हैं तो सर्वोच्च प्राथमिकता देकर उनकी उपज की तुलाई कराई जाय ।

कलेकटर ने उपार्जन केन्द्रों के आवक गेट पर बेरियर लगाने तथा खरीदी केन्द्र परिसर के भीतर किसानों को तभी प्रवेश देने के निर्देश दिये जायें जबकि वे फेस मास्क पहनकर या चेहरे को गमछे से न ढंके हों । उन्होंने प्रत्येक उपार्जन केन्द्र पर टोंटी लगी पानी की टंकी, साबुन रखने तथा हर दो घंटे में केन्द्र पर मौजूद किसानों, हम्मालों एवं कर्मचारियों से कम से कम 20 सेकेण्ड तक हाथ धुलवाने के निर्देश भी दिये हैं ।

कलेक्टर ने उपार्जन केन्द्र पर मौजूद प्रत्येक किसानों का कांटेक्ट लेस, थर्मामीटर से अनिवार्य रूप से तापमान लेने की हिदायत दिशा-निर्देशों में दी है । उन्होंने उपार्जन प्रारंभ होने से पूर्व इस कार्य में लगाये जा रहे कर्मचारियों एवं मजदूरों का चिकित्सकीय परीक्षण कराने तथा सर्दी, खांसी एवं बुखार से पीड़ित व्यक्ति को उपार्जन कार्य में तैनात न करने निर्देश भी दिये हैं।