सूदखोरी करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाए – सिंह

शेयर करें:

नीमच @ जिले के गॉव अल्हेड के एक किसान की मौत के मामले में पुलिस थाना मनासा द्वारा धारा-306 के तहत पॉच लोगों के विरूद्ध प्रकरण दर्ज किया गया है। एसडीओपी मनासा रविन्द्र बोयट ने बताया,कि ग्राम अल्हेड के किसान विनोद पाटीदार की मौत के मामले में अल्हेड निवासी रतनलाल गुर्जर,जगदीश गायरी, डमरलाल गायरी, जगदीश चौहान एवं मनासा निवासी धरमपाल ग्रोवर के विरूद्ध धारा-306 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया।

मनासा एसडीएम श्रीमती वंदना मेहरा ने बताया,कि किसान विनोद पाटीदार के माता पिता के नाम शामिलाती खाते में लगभग 20 बीघा जमीन है, और किसान विनोद पाटीदार अपने माता पिता के साथ संयुक्त परिवार में संयुक्त रूप से रहते थे। उनका गॉव अल्हेड में पक्का मकान भी है। परिवार की आर्थिक स्थिति भी अच्छी बताई जा रही है। ज्ञातत्व हो, कि अल्हेड निवासी कि किसान विनोद पिता श्रीराम पाटीदार की 10 जनवरी 2018 की शाम को अचानक तबीयत खराब होने से उपचार के दौरान मौत हो गई थी।

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह द्वारा एसडीएम मनासा, नीमच एवं जावद और सभी तहसीलदारों को सख्त निर्देश दिए है, कि मध्यप्रदेश साहूकार अधिनियम-1934 का कडाई से पालन सुनिश्चित कराए और सूदखोरी करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करें। कलेक्टर श्री सिंह ने एसडीएम एवं तहसीलदारों को निर्देशित किया है,कि म.प्र.साहूकार अधिनियम के प्रावधानों के तहत बिना रजिस्ट्रीकरण के साहूकारों के द्वारा कारोबार नही किया जाए।

अधिनियम के प्रावधानों का पालन नही कर यदि कोई साहूकार किसी किसान को ऋण प्रदान करता है,तब इस अधिनियम के प्रावधानों के तहत कडी कार्यवाही की जाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर ने एसडीएम एवं तहसीलदारों को मध्यप्रदेश साहूकार अधिनियम 1934 के प्रावधानों का कडाई से पालन कराने तथा अभियान चलाकर अधिनियम कि मंशानुसार कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए है।

मध्यप्रदेश साहूकार अधिनिमय-1934 कि धारा-11(ख) के अनुसार म.प्र. साहूकार अधिनियम-1934 के अनुसार साहूकारगण का रजिस्ट्रीकरण और रजिस्ट्रीकरण प्रमाण पत्र होना आवश्यक है। इसी प्रकार अधिनियम की धारा-11(क) के अनुसार रजिस्ट्रीकरण प्रमाण पत्र के बिना कारोबार किया जाना वर्जित है।