मास्क एवं हैण्ड सेनिटाइजर की कालाबाजारी रोकने, मेडिकल स्टोर्स पर ग्राहक बनकर गये एसडीएम गोरखपुर

शेयर करें:

जबलपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण के अलर्ट को देखते हुए मास्क एवं हैण्ड सेनिटाइजर के अवैध संग्रहण और कालाबाजारी को रोकने कलेकटर भरत यादव द्वारा अनुविभागीय दण्डाधिकारियों के नेतृत्व में गठित टॉस्क फोर्स ने मेडिकल स्टोर्स की जाँच की कार्यवाही प्रारंभ कर दी है ।

मेडिकल स्टोर्स की जाँच की कार्यवाही आज मंगलवार की शाम से की गई । अनुविभागीय दंडाधिकारी गोरखपुर आशीष पाण्डे खुद ग्राहक बनकर रामपुर स्थित कमल मेडिकल स्टोर्स में मास्क एवं हैण्ड सेनिटाइजर खरीदने पहुंचे । उन्होंने बताया कि कार्यवाही के दौरान सचिन मेडिकल एवं सोना मेडिकल स्टोर्स का निरीक्षण किया गया । इस दौरान इन दवा दुकानों पर हैण्ड सेनिटाइजर एवं मास्क उपलब्ध नहीं थे ।

एसडीएम रांझी मनीषा वास्कले के नेतृत्व वाले टॉस्क फोर्स ने भी आज शाम विक्टोरिया अस्पताल के सामने स्थित राजेश मेडिकल स्टोर्स का आकस्मिक निरीक्षण किया टॉस्क फोर्स को स्टॉक रजिस्टर और भौतिक सत्यापन में मास्क एवं हैण्ड सेनिटाइजर उपलब्ध नहीं मिले । इस दल ने बाद में सिविक सेंटर स्थित दवा बाजार में वी.के.सर्जिकल की जांच की । जाँच के दौरान इस दल को यहां 100 मिलीलीटर पैक के 14 हैण्ड सेनिटाइजर रखे मिले ।

दल द्वारा वी.के. सर्जिकल के स्टॉक रजिस्टर का परीक्षण और भौतिक सत्यापन किया गया । इस दौरान हैण्ड सेनिटाइजर के नमूना गुणवत्ता परीक्षण के लिए टॉस्क फोर्स द्वारा वी.के. सर्जिकल से लिया गया । एसडीएम रांझी के नेतृत्व में गठित टॉस्क फोर्स द्वारा की गई दवा दुकानों के निरीक्षण की कार्यवाही में तहसीलदार राजेश सिंह एवं थाना प्रभारी भी मौजूद थे ।