एक साथ सभी गतिविधियाँ शुरू करने से पुन: बढ़ सकता है संक्रमण फैलने का खतरा – कलेक्टर

शेयर करें:


व्यावसायिक संगठनों के प्रतिनिधियों से की धैर्य रखने की अपील, स्थितियाँ अनूकूल होने पर दी जायेगी अन्य गतिविधियों को छूट

जबलपुर। अनलॉक की प्रक्रिया के तहत जिले में सभी व्यावसायिक गतिविधियों को एक साथ खोलने से कोरोना संक्रमण के फैलने का खतरा फिर से बढ़ सकता है और कोई भी यह नहीं चाहेगा कि जबलपुर की स्थिति में तेजी से जो सुधार हुआ है वह फिर से बिगड़े ।

यह बात कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने आज उनसे मिलने आये विभिन्न व्यावसायिक संगठनों के प्रतिनिधियों से कही । इस दौरान पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा भी मौजूद थे । श्री शर्मा ने कहा कि समाज और आमजनता के व्यापक हितों को देखते हुये अनलॉक के शुरुआती चरण में केवल उन्हीं गतिविधियों को प्रारम्भ करने की अनुमति दी जा रही है जो रोजमर्रा की आवश्यकताओं से जुड़ी हैं तथा इन गतिविधियों से समाज के कमजोर वर्ग के लोग जुड़े हैं ।

कलेक्टर ने व्यावसायिक संगठनों के प्रतिनिधियों से चर्चा के दौरान कोरोना पर नियंत्रण पाने में उनसे मिले सहयोग के प्रति आभार व्यक्त करते हुये उनसे कुछ दिन और धैर्य रखने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा सप्ताह भर बाद फिर स्थितियों की समीक्षा की जायेगी और अनुकूल होने पर उसके अनुरूप क्रमिक तौर पर अन्य व्यावसायिक गतिविधियों को भी प्रारम्भ करने की अनुमति देने के बारे में निर्णय लिया जायेगा । श्री शर्मा ने कहा कि शासन और प्रशासन भी चाहता है कि जितनी जल्दी हो सके सभी आर्थिक गतिविधियां पुनः प्रारम्भ हों ।

लेकिन एक साथ सभी को अनुमति देने से न केवल बाजारों में भीड़ होगी बल्कि कोरोना के संक्रमण पर नियंत्रण पाने किये गये प्रयास भी निरर्थक हो सकते हैं । उन्होंने कहा कि अनलॉक की प्रक्रिया के तहत व्यावसायिक गतिविधियों को चरणबद्ध अनुमति देना शहर के हित में भी है और व्यापारियों के भी।

कलेक्टर ने इस मौके पर व्यापारी संगठनों के प्रतिनिधियों से अनलॉक की प्रक्रिया प्रारम्भ होने के बाद बाजार में कोरोना प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराने का आग्रह भी किया । बैठक में व्यावसायिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने कोरोना कर्फ्यू में दी गई छूटों और प्रतिबंधित की गई गतिविधियों के बारे में जारी किये जा रहे आदेश का पालन करने का आश्वासन कलेक्टर को दिया।