बीमार पुलिस कर्मियों के स्वस्थ्य की चिंता व्यक्त करते हुए SP सिद्धार्थ बहुगुणा ने अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को दिए ये निर्देश

शेयर करें:

जबलपुर। पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ बहुगुणा (भा.पु.से.) द्वारा जिले मे पदस्थ समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को आदेशित किया गया है कि थाने मे पदस्थ एैसे अधिकारी/कर्मचारी जो डेंगू, टाईफाईड, मलेरिया से ग्रसित होकर अस्पताल में उपचारार्थ भर्ती होकर या घर पर रहकर अपना उपचार करवा रहे हैं, उनसे प्रतिदिन टू.आई.सी./थाना प्रभारी/सी.एस.पी./उप पुलिस अधीक्षक/अनुविभागीय अधिकारी सुबह-शाम बात कर उनका कुशलक्षेम पूछें, यदि किसी प्रकार की कोई परेशानी है तो तत्काल मुझे अवगत करायें।

इसके साथ ही थाना क्षेत्र के अंतर्गत पुलिस लाईन एवं पुलिस क्वाटरों में रहने वाले पुलिस कर्मियों के परिजनों में भी यदि कोई बीमार है तो उन्हें किसी प्रकार की कोई परेशानी तो नहीं है, प्रतिदिन सुबह, शाम की गणना में पूछेंगे। समस्त थानों में एक रजिस्टर रखा जावे जिसमे संक्रमित अधिकारी/कर्मचारी का नाम, स्वास्थ की स्थिति, किसके द्वारा कब बात की गयी का उल्लेख किया जावे।

आपके द्वारा पुलिस कर्मियो एवं उनके परिवार को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो इस हेतु पुलिस अस्पताल की पौथौलॉजी में डेंगू टाईफाईड, मलेरिया, सी.बी.सी. कॉलिस्ट्राल, शुगर, यूरिया क्रिटेनिन, एस.जी.ओ.टी. एवं एस.जी.पी.टी. बिलरूबिन, सीआर.पी, आदि के टैस्ट की व्यवस्था करायी गयी है एवं पुलिस अस्पताल में एक मेडिकल शॉप भी खुलवाई गयी है, जिसमें 30 से 35 प्रतिशत कम रेट में दवाईयॉ पुलिस कर्मियों को उपलब्ध करायी जाती है।

इसके साथ ही आपके द्वारा जिले मे पदस्थ समस्त थाना प्रभारियों एवं राजपत्रित अधिकारियों को प्रतिदिन नगर निगम/नगर पालिका/नगर परिषद के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर थाना , चौकी, एवं पुलिस क्वाटरों में फॉगिंग मशीन से मच्छर नाशक दवा का छिडकाव कराने हेतु आदेशित किया गया है, साथ ही निर्देशित किया गया है कि कहीं भी पानी का जमाव न होने दें, यदि थाने/पुलिस क्वाटर के पास गड्ढे है तो उन्हें तत्काल मिट्टी से भरवा दें, ताकि पानी का भराव न हो सके।