वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में हारीं सिंधु

शेयर करें:

पीवी सिंधु को विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के महिला सिंगल फाइनल में जापान की नोजोमी ओकहारा के खिलाफ रोमांचक मैच में शिकस्त के साथ सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। दुनिया की चौथे नंबर की भारतीय खिलाड़ी सिंधु को एक घंटा और 50 मिनट चले मुकाबले में दुनिया की 12वें नंबर की खिलाड़ी और ओलिंपिक कांस्य पदक विजेता ओकुहारा के खिलाफ 19-21, 22-20, 20-22 से हार झेलनी पड़ी।

दोनों खिलाड़ी पहली बार वर्ल्‍ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहंची थीं। ओकहारा ने इससे पहले सेमीफाइन में भारत की ही एक अन्य दिग्गज खिलाड़ी सायना नेहवाल को हराया था। सायना ने कांस्य पदक जीता और इस तरह भारत के लिए यह विश्व चैंपियनशिप यादगार रही और देश इतिहास रखते हुए पहली बार इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में दो पदक जीतने में सफल रहा।

ओकहारा विश्व चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली जापान की पहली महिला खिलाड़ी बनीं। दोनों के बीच यह सातवीं भिड़ंत थी, जिसमें जापानी खिलाड़ी ने चौथी बार बाजी मारी। सिंधु ने रियो ओलिंपिक और इसी साल सिंगापुर ओपन में ओकहारा को मात दी थी। हालांकि सिंधु पहली बार इस चैंपियनशिप में भारत को स्वर्ण दिलाने का इतिहास नहीं रच सकीं, लेकिन एक इतिहास रचने में सफल रहीं। ऐसा पहली बार हुआ है जब भारत को विश्व चैंपियनशिप में दो पदक मिले हों. सायना नेहवाल ने शनिवार को कांस्य पदक जीता था।