शिवराज ने कमलनाथ सरकार को ट्विट कर कहा – सीधे खाते में डालो कर्जमाफी की रकम

शेयर करें:

भोपाल। मध्य प्रदेश में किसान कर्जमाफी में हो रही देरी पर पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कमलनाथ सरकार पर निशाना साधा है। सरकार को नसीहत देते हुए चौहान ने ट्विट किया की अब कांग्रेस सरकार किसान कर्ज माफी के लिए फॉर्म भरवाना चाहती है, किसानों का क़ीमती समय बर्बाद करना चाहती है।

इस नए नाटक से किसानों को परेशान करना और इस पूरी प्रक्रिया को लेट कर लोकसभा चुनाव में इसका फ़ायदा उठाने की कोशिश करने के अलावा कोई तर्क नजर नहीं आ रहा है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि सरकार के पास कर्ज माफी के अंतर्गत आने वाले सभी किसानों का रिकॉर्ड है।

इधर-उधर की बात करने की बजाए सरकार को किसानों के बैंक खातों में सीधा कर्ज माफी की रकम डालनी चाहिए और प्रमाण पत्र जारी करना चाहिए। यह एक छलावा है और ज़्यादा चलने वाला नहीं है। गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने किसान कर्जमाफी योजना की शुरुआत कर दी है।

इस योजना का नाम मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना न होकर अब ‘जय किसान ऋण मुक्त योजना’ होगा। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 15 जनवरी को ‘जय किसान ऋण मुक्त योजना’ की आवेदन प्रक्रिया का शुभारंभ किया। वहीं योजना के तहत भुगतान का दौर 22 फरवरी से शुरू हो जाएगा। इस मौके पर कमलनाथ ने कहा कि यह एक अभिनव योजना है।

किसान अर्थव्यवस्था की नींव हैं, क्योंकि राज्य की अर्थव्यवस्था कृषि पर निर्भर है। किसानों को सशक्त करना हमारी प्राथमिकता है।’ कमलनाथ ने बताया कि इस ऋण माफी योजना से प्रदेश के 55 लाख किसानों को लाभ मिलेगा, और 50,000 करोड़ रुपये का फसल ऋण माफ होगा।