भोपाल : शिवराज सरकार ने इन चार राज्यों से आने वाली बसों पर 23 मई तक लगाई रोक

शेयर करें:

भोपाल। शिवराज सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रभावी रोकथाम के लिए उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान से आने तथा जाने वाले बस परिवहन संचालन को 23 मई तक स्थगित कर दिया है. पहले इन बसों का संचालन 15 मई तक स्थगित किया गया था. मध्यप्रदेश परिवहन विभाग ने शनिवार को इस आशय के आदेश जारी किए.

मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया, ‘सचिव, राज्य परिवहन प्राधिकार एवं अपर परिवहन आयुक्त (प्रवर्तन) मध्य प्रदेश ने उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ एवं राजस्थान राज्यों से 23 मई 2021 तक मध्य प्रदेश की समस्त यात्री बस वाहनों का इन चार राज्यों की सीमा में प्रवेश तथा इन चार राज्यों की समस्त यात्री बस वाहनों का मध्य प्रदेश की सीमा में प्रवेश स्थगित करने का शनिवार को आदेश जारी किये हैं.’ उन्होंने बताया कि पहले बस सेवा 15 मई तक स्थगित की गई थी, जिसे बढाकर 23 मई किया गया है.

उधर, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमण की दर घटी है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमण की दर 24 प्रतिशत तक पहुंच गई थी, जो अब 11.8 प्रतिशत हो गई है. उन्होंने कहा कि साप्ताहिक पॉजिटिविटी दर भी 14.8 प्रतिशत हो गई है.

इसके अलावा, उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारीकी स्थिति को दृष्टिगत रखते हुए मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा ली जाने वाली 10वीं की बोर्ड परीक्षा की इस साल (वर्ष 2021) नहीं होगी तथा 12वीं की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं व स्थिति सामान्य होने पर 12वीं की परीक्षा आयोजित कराने की सूचना 20 दिन पहले दी जाएगी. चौहान ने यह बात प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कही.

उन्होंने कहा, ‘प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना संक्रमण के 8087 नए प्रकरण आए हैं, परंतु अभी बिल्कुल भी ढिलाई नहीं करनी है, पूरी कड़ाई के साथ कोरोना के विरूद्ध जंग लड़नी है. आप सभी के सहयोग से हम मध्य प्रदेश को शीघ्र ही कोरोना मुक्त करेंगे.’ चौहान ने कहा कि कोरोना का अगर पहले पता चल जाए तो सभी स्वस्थ हो जाते हैं. इसलिए सर्दी, जुकाम, खांसी, बुखार आदि किसी भी बीमारी को छुपाईये मत, बताईये. हम आपका तुरंत नि:शुल्क इलाज कराएंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी लंबे समय तक चल सकती है, ऐसे में हर व्यक्ति को कोरोना के प्रति जागरूक होना पड़ेगा. अपनी जीवनशैली बदलनी होगी. आगे भी मास्क लगाना, एक-दूसरे से दूरी रखना, भीड़ भरे आयोजन न करना आदि सावधानियां बरतनी होंगी. साथ ही योग, प्राणायाम, संतुलित आहार-विहार अपनाने होंगे.