शहीद जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी, पाकिस्तान को चुकानी पड़ेगी कीमत

शेयर करें:

सुंजवान हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को बेहद सख्त संदेश दिया है। जम्मू में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने साफ कर दिया है कि शहीद जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी और पाकिस्तान को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी । रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान सीमा पर गोलीबारी करके घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा है । उन्होंने कहा कि पाक के आतंक का दायरा बढ़ रहा है लेकिन सुरक्षा बल पाक और उसके आतंकवादियों को पूरा जवाब दे रहे हैं ।

पहले सुंजवान आर्मी कैंप और फिर सोमवार सुबह श्रीनगर के करन नगर में सीआरपीएफ शिविर पर हमले ने देश को झकझोर दिया है। हमले के बाद दिल्ली से लेकर जम्मू तक बैठकों का दौर जारी है । जंम्मू पहुंची देश की रक्षा मंत्री ने मौके पर हालात का जायजा लिया तो दिल्ली में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह भी देश की आंतरिक सुरक्षा की समीक्षा की ।

दोपहर बाद जम्मू पहुंची रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने अस्पताल में जाकर घायलों से मुलाकात की। उन्होंने सेना के कमांडरों के साथ पूरे आतंकी की हमले की समीक्षा की। इसके बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि सुंजवान हमले के समय आतंकियों को मिल रहे थे पाक से उऩके आका निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि सैनिकों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी और पाक को कीमत चुकानी पड़ेगी ।

रक्षा मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान सीमा पर गोलीबारी करके घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा है। उन्होने कहा कि पाक के आतंक का दायरा बढ़ रहा है लेकिन सुरक्षा बल पाक और उसके आतंकवादियों को पूरा जवाब दे रहे हैं।

इस बीच केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी देश की आंतरिक सुरक्षा को लेकर सोमवार को दिल्ली में अहम बैठक की जिसमें , गृह सचिव, IB चीफ, रॉ चीफ सहित, गृह मंत्रालय के दूसरे अधिकारी भी शामिल हुए । उधर श्रीनगर के करन नगर इलाके में स्थित केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के शिविर पर आज सुबह आतंकवादी हमले का प्रयास विफल किये जाने के बाद से सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड में एक जवान शहीद हो गया । हमले के बाद आतंकवादी पास में बने एक मकान में छिप गये ।

उधर जम्मू के सुंजवान शिविर में अभियान खत्म हो गया है लेकिन तलाशी जारी है। इस शिविर पर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने हमला किया था जिसमें पांच सैनिक शहीद हो गए और एक नागरिक की भी जान चली गयी । सेना की जवाबी कार्रवाई में हमले में शामिल जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादी मारे गये और उनके कब्जे से भारी मात्रा में हथियार बरामद हुआ है।

हमले में शहीद सूबेदार मदन लाल चौधरी को सोमवार को श्रद्दांजलि दी गयी । दोपहर बाद उनका पार्थिव शरीर जब उनके घर पहुंचा तो मातम मच गया । जम्मू कश्मीर विधानसभा में भी सुंजवान स्थित सेना शिविर पर आतंकी हमले में सेना के पांच शहीद जवानों और मारे गये एक आम नागरिक की याद में दो मिनट का मौन रखा। कुल मिलाकर इन हमलों के बाद देश में गुस्सा है और सरकार ने साफ कर दिया है कि शहादत बेकार नहीं जाएगी ।