महिलाओं और बच्चों के खिलाफ यौन हिंसा पर सख्ती से अंकुश लगाया जाएगा

शेयर करें:

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि यौन हिंसा की शिकार महिलाओं और बच्चों को न्याय दिलाने और इस घिनौने अपराध पर सख्ती से अंकुश लगाने के लिऐ सरकार शीघ्र ही रणनीति तैयार करेगी। श्री नाथ ने आज निवास पर राष्ट्रीय गरिमा अभियान के बैनर पर ‘गरिमा यात्रा’ पर निकले दल से मुलाकात करते समय यह जानकारी दी। राष्ट्रव्यापी यात्रा पर निकले इस दल का उद्देश्य पीड़ित महिलाओं और बच्चियों में जागरूकता पैदा करने के साथ न्याय की लड़ाई लड़ना है।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि सभ्य समाज में महिलाओं और बच्चियों के प्रति अत्याचार की घटनायें शर्मनाक हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ समाज की भागीदारी से हम इस समस्या का समाधान कर सकते हैं। उन्होंने राष्ट्रीय गरिमा अभियान द्वारा इस दिशा में की गई पहल सराहना की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। पीड़ितों को शीघ्र न्याय दिलाने के लिये राज्य सरकार सुनियोजित प्रयास कर रही है। उन्होंने राष्ट्रीय गरिमा अभियान दल से सरकार के साथ सहयोग की अपेक्षा की।

राष्ट्रीय गरिमा अभियान की राष्ट्रव्यापी यात्रा 20 दिसम्बर 2018 को मुंबई से शुरू हुई थी। यह यात्रा 22 फरवरी 2019 को दिल्ली में समाप्त होगी। राष्ट्रीय गरिमा अभियान की यह यात्रा देश के 24 राज्य के 200 जिलों से गुजरेगी और दस हजार किलोमीटर की दूरी तय करेगी।

इस मौके पर राष्ट्रीय गरिमा यात्रा के संयोजक श्री आशिफ शेख, श्री सादिक आगवान, सुश्री उर्मिला देवी, सुश्री शांति प्रजापति, सुश्री दुर्गा, सुश्री रेखा चौहान, श्री राजेन्द्र मेवाड़ा और श्री समीर तावेर उपस्थित थे।