एसडीएम मुरार द्वारा दो बोरिंग मशीनें जब्त

शेयर करें:

ग्वालियर@ अल्प वर्षा को दृष्टिगत रखते हुए ग्वालियर जिले में नए नलकूप खनन को कलेक्टर राहुल जैन द्वारा प्रतिबंधित कर दिया गया है। इसी क्रम में बुधवार को एसडीएम मुरार एच बी शर्मा द्वारा ग्राम खुरैरी में नलकूप खनन करने वाली दो बोरिंग मशीनों को जब्त किया गया है। एसडीएम एच बी शर्मा ने बताया कि ग्राम जग्गूपुरा में आयोजित राजस्व न्याय शिविर के दौरान ग्रामीणों द्वारा ग्राम खुरैरी में सीहोर से लाई गईं मशीनों के माध्यम से नलकूप खनन की सूचना दी गई थी। जिसके आधार पर त्वरित कार्रवाई करते हुए ग्राम खुरैरी में खड़ी पाई गईं दोनों मशीनें जब्त की गईं। यह बोरिंग मशीनें देशराज पुत्र मुकेश सिंह ग्राम खुरैरी के द्वारा खनन कार्य हेतु लाई गईं हैं, जबकि गाड़ी मालिक अनिल खान निवासी सीहोर बताया गया है। एसडीएम द्वारा दोनों मशीनों की जब्ती कर उनके विरूद्ध बिना नलकूप खनन की वैधानिक अनुमति की कार्रवाई का प्रकरण दर्ज कराया गया है।

उल्लेखनीय है कि ग्वालियर जिले में पानी की कमी को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर जैन ने मध्यप्रदेश पेयजल परिरक्षण अधिनियम 1986 की धारा-6(1) के अंतर्गत नलकूप खनन पर प्रतिबंध के साथ ही जिले को जल अकाल क्षेत्र घोषित करने के आदेश पारित किए हैं। इस आदेश के प्रभावशील होने पर मध्यप्रदेश भू-राजस्व संहिता 1961 क्रं.-20 में कलेक्टर की अनुक्रिया के बिना जल अभावग्रस्त क्षेत्र में किसी भी जल स्त्रोत के सिंचन तथा औद्योगिक प्रयोग के लिये घरेलू प्रयोजन छोड़कर किसी अन्य प्रयोजन के लिये जल नहीं लिया जा सकेगा। उक्त आदेश के पश्चात कोई भी व्यक्ति कलेक्टर की या राज्य सरकार द्वारा प्राधिकृत किसी अन्य अधिकारी की अनुज्ञा के बिना जल अभावग्रस्त क्षेत्र में नलकूप नहीं खोदेगा। इस आदेश का उल्लंघन करने पर दो वर्ष के कारावास या दो हजार रूपए तक का दण्ड आरोपित किया जा सकेगा।