50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ 26 जुलाई से मध्य प्रदेश में कक्षा 9वीं से 12वीं तक प्रारंभ होंगे स्कूल, इन नियमों का करना होगा पालन

शेयर करें:

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आने के बाद सरकार द्वारा अब स्कूलों को खोलने की तैयारी शुरू हो चुकी है. यहां 26 जुलाई से स्कूलों में 11वीं और 12वीं की कक्षाएं एव छात्रावास खोले जाएंगे. वहीं कक्षा 9वीं और 10वीं की कक्षाएं 5 अगस्त से शुरू की जाएंगी. इस बाबत मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि स्कूल 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ प्रारंभ होंगे. कक्षाओं के खोले जाने के संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट समूह स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार निर्णय लेंगे.

कोचिंग सेंटरों को करना होगा कोरोना गाइडलाइन्स का पालन

सीएम ने कहाकि कक्षा 12वीं के लिए कोचिंग सेंटरों को 5 अगस्त से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खोला जा सकेगा. इस बाबत मैनेजमेंट टीम द्वारा मॉनिटरिंग की जा रही है. वहीं सभी कोचिंग सेंटरों को कोरोना की गाइडलाइन्स का पालन करना होगा. वहीं महाविद्यालयों में एक सितंबर से नवीन सत्र का आरंभ किया जाएगा. परिस्थितियों के अनुसार महाविद्यालयों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ऑफलाइन कक्षाओं का संचालन किया जाएगा.

शिक्षकों व कर्मचारियों का होगा 100 प्रतिशत टीकाकरण
मुख्यमंत्री ने आदेश दिए कि स्कूलों व महाविद्यालयों के सभी शिक्षकों व कर्मचारियों का अभियान चलाकर 100 प्रतिशत तक टीकाकरण किया जाएगा. वहीं अधिक से अधिक विद्यार्थियों का भी टीकाकरण किया जाएगा. बता दें कि कोरोना की शुरुआत के बाद से ही लगातार देश में शैक्षिक संस्थान और कोचिंग सेंटर बंद चल रहे हैं. ऐसे में कोरोना संक्रमण के मामलों में आ रही कमी के बाद अब स्कूल खोलने की कवायद को फिर से शुरू किया जा रहा है.