कोरोना की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए अभी नहीं खुलेंगे स्कूल, न बढ़ाई जाए फीस : CM शिवराज

शेयर करें:

भोपाल: मध्यप्रदेश में कोरोना के मामलों में कमी दर्ज की जा रही है. इस कारण राज्य सरकार द्वारा लॉकडाउन में कई तरह की रियायतें दी गई हैं. लेकिन राज्य सरकार द्वारा अभी स्कूलों को न खोलने का फैसला लिया गया है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस बाबत जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर की संभावना बनी हुई है. जबतक यह खत्म नहीं होता तब तक स्कूलों को खोला नहीं जाएगा. साथ ही उन्होंने निर्देश दिया कि इस साल ट्यूशन फीस नहीं बढ़ाई जाए.

शिवराज सिंह चौहान सोमवार के दिन महिला सशक्तिकरण और बाल कल्याण पर मंत्री समूह की बैठक में शामिल हुए. यहां उन्होंमने स्कूल खोलने को लेकर विभाग का एक प्रजेंटेशन भी देख, इसमें कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चिंता जाहिर की गई थी. इसके बाद मुख्यमंत्री ने फैसला लिया कि जबतक तीसरी लहर की संभावनाएं खत्म नहीं होतीं तब तक स्कूलों को नहीं खोला जाएगा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभी हम बच्चों की जिंदगी को खतरे में नहीं डाल सकते हैं स्कूलों में शिक्षकों की सैलरी का सवाह है. पालक शिकायत कर रहे हैं कि पढ़ाई नहीं हो रही है और फीस बढ़ा दी गई है. उन्होंने कहा कि मेरे साफ निर्देश हैं कि स्कूल ट्यूशन फीस के अलावा कोई फीस नहीं लेंगे औऱ स्कूल बीते साल के मुकाबले ट्यूशन फीस नहीं बढ़ाएंगे.