अनुसूचित जाति के बेरोज़गार युवक, युवतियों को 1 करोड़ तक ऋण

शेयर करें:

सीहोर @ राज्य शासन द्वारा अनुसूचित जाति वर्ग के आर्थिक कल्याण हेतु संचालित योजनाओं में बेरोज़गार हितग्राहिओं को बैंकों के माध्यम से ऋण उपलब्ध कराया जाएगा। योजना का लाभ अनुसूचित जाति वर्ग के युवक/युवतियों को मिलेगा जिनकी उम्र 18 से 40 वर्ष के मध्य हो, वह सीहोर जिले के निवासी हो और वह किसी बैंक/वित्तीय संस्थाओं से डिफॉल्टर नही हों तथा शासन की अन्य योजनाओं अंतर्गत लाभांवित न हो। ऐसे पात्र हितग्राहीओं को बैंको के माध्यम से उद्योग, सेवा व्यवसाय एवं व्यवसाय हेतु ऋण उपलब्ध कराया जाएगा।
इन योजनाओं में मिलेगा ऋण
जिला अंत्यावसायी विकास समिति के कार्यपालन अधिकारी नें बताया कि मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना/स्टेण्ड अप इण्डिया योजना में अनुसूचित वर्ग के 10वी उत्तीर्ण बेरोजगार युवक/युवतियों को अपने स्वयं के उद्योग स्थापित करने हेतु न्यूनतम 10 लाख से 1 करोड़ तक के ऋण बैंकों के माध्यम से उपलब्ध कराए जाऐगे जिसमें अंत्यावसायी विभाग के द्वारा 15 प्रतिशत अधिकतम 12 लाख मार्जिनमनी उपलब्ध कराई जाएगी। मुद्रा योजना/शिशु लोन में अनुसूचित जाति वर्ग के अशिक्षित/पी.डी.एस कार्ड धारी लोगों को 50000/- तक ऋण बैंकों के माध्यम से उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें अंत्यावसायी विभाग द्वारा 15000/- मार्जिनमनी उपलब्ध कराई जाएगी। मुद्रा योजना/किशोर लोन अन्तर्गत अनुसूचित जाति वर्ग के 5वीं उत्तीर्ण लोगों को 50000/- से 5 लाख तक ऋण बैंकों के माध्यम से उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें अंत्यावसायी विभाग द्वारा 30 प्रतिशत मार्जिनमनी उपलब्ध कराई जाएगी। मुद्रा योजना/तरूण लोन अन्तर्गत अनुसूचित जाति वर्ग के 5वीं उत्तीर्ण लोगों को 5 लाख से 10 लाख तक ऋण बैंकों के माध्यम से उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें अंत्यावसायी विभाग द्वारा 30 प्रतिशत मार्जिनमनी उपलब्ध कराई जाएगी।

उपरोक्त योजनाओं में ऋण आवेदन पत्र आवेदक के द्वारा जाति एवं शिक्षा तथा वाहनों हेतु वैध ड्रायविंग लायसेंस प्रस्तुत करने पर नवीन कलेक्ट्रेट कार्यालय के कक्ष क्रमांक 121 एवं 122 से ऋण आवेदन पत्र उपलब्ध कराए जाऐगे। आवेदन करने की अन्तिम तिथि 30 सितम्बर, 2017 निर्धारित की गई है।