एशियाई खेलों में सौरभ चौधरी ने 10 मीटर एयर पिस्टल में जीता स्वर्ण

शेयर करें:

एशियाई खेलों के तीसरे दिन भी भारतीय निशानेबाज़ों ने अपनी चमक बिखेरी। युवा सौरभ चौधरी ने पुरुषों की दस मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में एशियन गेम्स रिकॉर्ड कायम करते हुए स्वर्ण पदक जीता। वहीं इसी स्पर्धा में कांस्य भारत के अभिषेक वर्मा के नाम रहा।

सौरभ चौधरी फाइनल में ज्यादातर समय दूसरे स्थान पर थे लेकिन अंतिम क्षणों में मत्सुदा के 8.9 स्कोर करने के कारण उन्होंने बढत हासिल कर ली। इसके बाद उन्होंने 10.2 स्कोर किया और बढ़त बनाए रखी। अनुभवी दिग्गज संजीव राजपूत का शानदार प्रदर्शन भी जारी रहा। संजीव ने पुरुषों की 50 मीटर राइफल 2 पोज़ीशन में रजत पदक अपने नाम किया।

भारतीय निशानेबाज़ों का शानदार प्रदर्शन एशियाई खेलों के तीसरे दिन भी जारी रहा। 16 साल के सौरभ चौधरी ने दिग्गजों को मात देते हुए पुरुषों की दस मीटर एयर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक हासिल किया। सौरभ ने फाइनल में 240.7 का स्कोर हासिल किया जो कि एशियन गेम्स रिकॉर्ड है। भारत के ही अभिषेक वर्मा ने स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया। अभिषेक ने 219.3 अंक हासिल किए।

जापान के तोमोयूकी मत्सुदा फाइनल में ज्यादातर समय आगे रहे लेकिन आखिरकार उन्हें 239.7 अंक के साथ रजत पदक से संतोष करना पड़ा। ये एशियाई खेलों के इस संस्करण में भारत का निशानेबाज़ी में पहला स्वर्ण पदक रहा। वहीं एशियाई खेलों में कुल मिलाकर ये भारत का निशानेबाजी में आठवां स्वर्ण पदक रहा। सौरभ चौधरी फाइनल में ज्यादातर समय दूसरे स्थान पर थे लेकिन अंतिम क्षणों में मत्सुदा के 8.9 स्कोर करने के कारण उन्होंने बढत हासिल कर ली। इसके बाद उन्होंने 10.2 स्कोर किया और बढ़त बनाए रखी।

ये साल अब तक युवा सौरभ चौधरी के लिए शानदार रहा है। उन्होंने जर्मनी में जूनियर विश्व कप में भी नया विश्व रिकॉर्ड कायम करते हुए स्वर्ण पदक जीता था। इससे पहले सौरभ ने एशिया यूथ ओलिंपिक गेम्स क्वालिफिकेशन में जूनियर विश्व रिकॉर्ड के साथ स्वर्ण जीता था और यूथ ओलिंपिक गेम्स के लिए क्वालीफाई किया था। अभिषेक वर्मा ने भी राष्ट्रीय ट्रायल्स में अपने प्रदर्शन से सबको प्रभावित किया था। वहीं म्युनिख में हुए विश्व कप में उन्होंने यशस्विनी देसवाल के साथ मिक्सड़ गोल्ड जीता था।

इस बीच अनुभवी दिग्गज संजीव राजपूत का शानदार प्रदर्शन भी जारी रहा। संजीव ने पुरुषों की 50 मीटर राइफल 2 पोज़ीशन में रजत पदक अपने नाम किया। ये एशियाई खेलों में संजीव राजपूत का चौथा पदक है। उन्होंने 2010 में दस मीटर एयर राइफल के टीम इवेंट में रजत पदक जीता था। वहीं 2006 में 50 मीटर राइफल 3 पोज़ीशन टीम इवेंट में कांस्य और 2014 में दस मीटर एयर राइफल टीम इवेंट में भी कांस्य जीता था।

खेल मंत्री कर्नल राज्यवर्धन राठौड़ ने एशियाई खेलों में पदक जीतने वाले खिलाड़ियों की तारीफ की है और ये भी कहा कि ये खिलाड़ी टॉप्स स्कीम का हिस्सा हैं। उन्होंने कहा कि सरकार ने इन्हें प्रशिक्षण की सुविधाएं दिलवाई, जिसके परिणाम अब मिल रहे हैँ।

एशियन गेम्स 2018 में भारत को पहला स्वर्ण पदक दिलाने वाले भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया का स्वदेश वापसी पर ज़ोरदार स्वागत किया गया। राजधानी के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर भारी संख्या में बजरंग के फैंस मौजूद थे। बजरंग ने 65 किलोग्राम भार वर्ग के मुक़ाबले में जापान के पहलवान को हराकर स्वर्ण पदक पर कब्ज़ा जमाया।ये बजरंग का एशियन गेम्स में पहला स्वर्ण पदक है।इस मौके पर बजरंग के गुरू योगेश्वर दत्त भी मौजूद रहे,जिन्होने बजरंग की कड़ी मेहनत को उनकी सफलता का कारण बताया।

भारतीय पहलवान दिव्या काकरान ने एशियाई खेलों में कांस्य पदक जीतने में कामयाबी पाई। दिव्या ने महिलाओं की कुश्ती के फ्रीस्टाइल 68 किलोवर्ग में कांस्य जीता। दिव्या पहले हार गई थी लेकिन फिर रेपेचाज के ज़रिए उन्हें एक और मौका मिला जिसे उन्होंने बेकार नहीं जाने दिया और कांस्य जीतने में कामयाबी पाई।