सागरमाला स्टार्टअप चैलेंज, स्टार्टअप आइडिया से जीत सकते हैं दो लाख रुपए

शेयर करें:
सागरमाला स्टार्ट अप चैलेंज – देश के बंदरगाह और समुद्री क्षेत्र में बदलाव हेतु स्टार्टअप आमंत्रित आईआईटी मद्रास में नेशनल टेक्नोलॉजी सेंटर फॉर पोट्स वॉटरवेज (एनटीपीसीडब्ल्यूसी), विशाखापट्टनम व मुम्बई में सेंटर फॉर एक्सीलेंस इन मैरिटाइम एंड शिपबिल्डिंग (सीईएमएस) और सेंटर फॉर इनलैंड एंड कोस्टल मैरिटाइम टेक्नोलॉजीज (सीआईसीएमटी) स्थापित किए गए हैं। इनको बढ़ावा देने के लिए इस चैलेंज की शुरुआत की गई है। इसके अंतर्गत मैरिटाइम सेक्टर और पोर्ट के डेटा एनालिटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, मशीन लर्निंग, बिग डेटा,इंटरनेट ऑफ थिंग्स और कम्युनिकेशन/इलेक्ट्रॉनिक्स/मैकेनिकल इंजीनियरिंग से जुड़े क्षेत्रों के चैलेंजेस को एड्रेस करने के लिए स्टार्टअप आइडिया मांगे गए हैं।
सागरमाला के बारे में: सागरमाला समुद्री क्षेत्र के लिए एक नवाचार और उद्यमशीलता पारिस्थितिकी तंत्र स्थापित करने हेतु “सागरमाला स्टार्टअप एंड इनोवेशन इनिशिएटिव (S2I2)” नामक पहल शुरू करने जा रही है। यह नौवहन मंत्रालय के संस्थानों, अकादमिक संस्थानों, निजी क्षेत्र और विभिन्न मंत्रालय की योजनाओं (स्टार्टअप इंडिया आदि) के सहयोग से एक ऐसे पारिस्थितिकी तंत्र का विकास करना है जो नए विचारों / दृष्टिकोणों, ऊर्जा और युवाओं की मदद से बंदरगाह और समुद्री क्षेत्र की चुनौतियों का समाधान ढूंढ़ना है । देश को मैरीटाइम इनोवेशन हब बनाने के लिए सागरमाला स्टार्टअप और इनोवेशन इनिशिएटिव (S2I2) वित्तीय, संस्थागत, इंफ्रास्ट्रक्चर, मेंटरशिप के साथ-साथ नए बाज़ार तक पहुँच प्रदान करेगा। अपने देश के बंदरगाह और समुद्री क्षेत्र में बदलाव हेतु इस पहल का हिस्सा बनने के लिए आप स्वागत करते हैं!
योग्यता : कोई भी स्टार्टअप इस प्रतियोगिता के लिए स्टार्टअप इंडिया पोर्टल के माध्यम से आवेदन कर सकता है। डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटर्नल ट्रेड (डिपीआईआईटी) से मान्यता प्राप्त स्टार्टअप्स को प्रिफरेंस दी जाएगी।
1)इसके लिए कोई भी स्टार्टअप आवेदन दे सकता है। डीपीआईआईटी से मान्यता प्राप्त को प्राथमिकता दी गई है। लेकिन यह अनिवार्य नहीं है।
2)आवेदन स्टार्टअप इंडिया पोर्टल के माध्यम से ही की जानी चाहिए। सागरमाला द्वारा ईमेल के जरिए कोई भी प्रविष्टि स्वीकार नहीं की जाएगी। आईआईआईटी मद्रास में नेशनल टेक्नॉलॉजी सेंटर फॉर पोर्ट्स वाटरवेज एंड कोस्टस (NTCPWC) तथा आईआईआईटी खड़गपुर में अंतर्देशीय और तटीय समुद्री प्रौद्योगिकी केंद्र (CICMT) पर सीधी प्रविष्टि जमा की जा सकती है। 29 फरवरी, 2020 को NTCPWC में और 7 मार्च, 2020 को CICMT में प्रजेंटेशन के जरिए सीधे प्रविष्टि जमा की जा सकती है।
3) प्रतिभागी स्टार्ट अप को PoC (संकल्पना के सबूत) आईआईटी खड़गपुर के CICMT / आईआईटी मद्रास के NTCPWC पर प्रदर्शित करने की आवश्यकता होगी।
4) सभी ऑफ़लाइन / ऑनलाइन प्रविष्टि की जांच के बाद पुरस्कार दिया जाएगा।
क्या मिलेगा : चयनित विजेताओं को 2 लाख रुपए नगद प्रदान किए जाएंगे।
प्रतियोगिता के विषय :- ·डेटा एनालिटिक्स, ·आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, ·मशीन लर्निंग, ·बिग डेटा, ·इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स, ·कम्युनिकेशन / इलेक्ट्रॉनिक्स / मैकेनिकल इंजीनियरिंग
आवेदन की अंतिम तिथि: 30 मार्च, 2020 है। आईआईटी खड़गपुर के सेंटर फॉर इनलैंड एंड कोस्टल प्रिफरेंस टेक्नोलॉजी में 7 मार्च को प्रेजेंटेशन आयोजित किया जा रहा है। आवेदक इसमें शामिल हो सकते हैं। इसके अलावा वे आवेदक जो किसी कारणवश इस प्रेजेंटेशन में नहीं पहुंच पा रहे। हों वे 30 मार्च, 2020 तक आवेदन कर सकते हैं।
अधिक जानकारी के लिए देखें :
1. PDF