संयुक्त राष्ट्र महासभा में रूस का प्रस्ताव खारिज

शेयर करें:

संयुक्त राष्ट्र महासभा में अमेरिका और उसके सहयोगी देशों द्वारा सीरिया पर हवाई हमले की भर्त्सना के लिए लाए गए रूस के प्रस्ताव को नहीं मिला समर्थन. अमेरिकी उपराष्ट्रपति ने ऐसे और हमलों की दी चेतावनी.

अमेरिका ने संयुक्त राष्ट्र में कहा है कि रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल को रोकने के लिए ज़रूरत पड़ने पर अमेरिका दोबारा हमले करने के लिए तैयार है. संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली ने कहा कि इस सैन्य कार्रवाई से अमेरिका का संदेश साफ़ है कि अमेरिका, असद सरकार को रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल नहीं करने देगा. अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने ऐसे और हमलों की चेतावनी दी.

इस बीच रूस, सीरिया के ख़िलाफ़ अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के मिसाइल हमलों की भर्त्सना करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में समर्थन नहीं जुटा पाया. रूसी राजदूत ने कहा कि सीरिया में मिसाइल हमले करके अंतरराष्ट्रीय क़ानून का घोर उल्लंघन किया गया है. वहीं संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेश ने इस पूरे घटनाक्रम को ‘ख़तरनाक हालात’ बताते हुए संयम बरतने की अपील की है.