#RightToPrivacy: सोनिया ने कहा- निजी आजादी के नए युग की शुरुआत

शेयर करें:

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने गुरुवार को निजता के अधिकार पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और कहा कि यह व्यक्तिगत अधिकार, व्यक्तिगत स्वतंत्रता और मानव गरिमा के नए युग की शुरुआत है।

एक बयान में उन्होंने मोदी सरकार की कटु आलोचना करते हुए कहा कि यह फैसला आम आदमी के जीवन में राज्य और उसकी एजेंसियों द्वारा ‘अबाधित अतिक्रमण और निगरानी पर रोक लगाता है।’

सोनिया गांधी ने कहा, “निजता के मौलिक अधिकार पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आम आदमी के जीवन में सरकार और उसकी एजेंसियों द्वारा अबाधित अतिक्रमण और निगरानी से बचाव करता है।”

सोनिया ने कहा, “सुप्रीम कोर्ट का ‘निजता के अधिकार’ पर फैसला व्यक्तिगत अधिकार, व्यक्तिगत स्वतंत्रता और मानव गरिमा के एक नए युग की शुरुआत है।”

उन्होंने कहा, “कांग्रेस, हमारी सरकारों के साथ अन्य विपक्षी दलों को भी मौजूदा सरकार के अभिमानी प्रयासों के खिलाफ सभी भारतवासियों की निजता के अधिकार और गरिमा की रक्षा के लिए अदालत और संसद में साथ खड़े होने की जरूरत है।”

सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को कहा कि निजता का अधिकार मौलिक अधिकार है और यह जीवन और स्वतंत्रता के अधिकार का अभिन्न अंग है।