Skip to content

राजस्व वसूली का कार्य राजस्व अधिकारी प्राथमिकता के साथ करें-आयुक्त शर्मा

इस ख़बर को शेयर करें:

शहडोल @ राजस्व वसूली का कार्य प्राथमिकता से किया जाये, प्रदेश स्तर पर लगातार मॉनीटरिंग की जा रही है, इस कार्य में किसी भी प्रकार की शिथिलता मान्य नहीं होगी। इसलिये संभाग के सभी कलेक्टर एवं सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व तथा तहसीलदार राजस्व वसूली के लक्ष्य तय कर वसूली करना सुनिश्चित करें। कमिश्नर शहडोल संभाग शहडोल बी.एम.शर्मा ने आज कलेक्ट्रेट सभागार शहडोल में कलेक्टर कॉन्फ्रेंस के दौरान संबंधित अधिकारियों को दिये। बैठक में कलेक्टर शहडोल मुकेश शुक्ला, कलेक्टर अनूपपुर अजय शर्मा, कलेक्टर उमरिया माल सिंह, अपर कलेक्टर अनूपपुर डॉ.आर.पी.तिवारी, अपर कलेक्टर उमरिया, संयुक्त आयुक्त विकास श्री जे.के.जैन, उपायुक्त राजस्व एम.पी.बरार सहित संभाग के समस्त एसडीएम, तहसीलदार एवं नायब तहसीलदार उपस्थित थे।

आयुक्त शहडोल संभाग शर्मा ने नजूल वसूली, डायवर्सन वसूली, खनिज वसूली आदि की विस्तार से समीक्षा करते हुये राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि वसूली अभियान को तेज किया जाये। आपने कहा कि डायवर्सन की अनुमति तब तक न दी जाए जब तक कि संबंधित हितग्राही शुल्क जमा न कर दे। आपने कहा कि बी-1 मांग की कायमी तहसीलदार करायें तथा पुराने वर्ष एवं चालू वर्ष के भू-भाटक दर्ज करें। आयुक्त शर्मा ने खनिज राजस्व की समीक्षा करते हुये कहा कि खनिज विभाग द्वारा दर्ज अवैध उत्खनन एवं परिवहन के प्रकरणों का निराकरण कर अर्थदण्ड अनिवार्य रूप से वसूली किया जाये। आपने नजूल पट्टों के नवीनीकरण के भी निर्देश दिये। आयुक्त शर्मा ने राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे नियमित रूप से अधीनस्थ राजस्व न्यायालयों का रोस्टर निरीक्षण करें तथा प्रतिवेदन आयुक्त कार्यालय को प्र्रेषित करें।

आपने कहा कि अतिक्रमण की कार्यवाही के दौरान अतिक्रमण मौके से हटने चाहिए तथा संबंधितों से अर्थदण्ड की वसूली एवं सिविल जेल भेजने की भी कार्यवाही समानांतर रूप से होनी चाहिए। उन्होने कहा कि विभागीय जांच प्रकरणों का शीघ्र निराकरण किया जाये, विधानसभा आश्वासन तथा लोकलेखा समिति के आडिट कंडिकाओं का तत्काल निराकरण करायें। जनसुनवाई एवं लोकसेवा प्रबंधन तथा सीएम हेल्प लाईन के प्रकरणों का समय सीमा में निराकरण किया जाये। इसके लिये संबंधित अधिकारी नियमित रूप से पोर्टल की मॉनीटरिंग करे तथा आयुक्त स्तर पर एल-4 में जो प्रकरण निराकरण किये जाते हैं उन प्रकरणों में की गई टिप्पणियों का जवाब फीड करायें। आयुक्त ने कहा कि संभाग के कतिपय क्षेत्रों से सोयाबीन की फसल में बीमारी की सूचनाएं प्राप्त हो रही है, इसलिये दल भेजकर सर्वे करा लिया जाये। उन्होने जिला स्तरीय सूखा राहत समिति के गठन की बैठक, लोक कल्याण शिविरों के आयोजन करने तथा डाटा इंट्री ऑपरेटर भर्ती आदि की भी समीक्षा की। संबंधित कलेक्टरों द्वारा उपलब्धियों की जानकारी दी गई।