महाराष्ट्र में लॉकडाउन जैसे प्रतिबंध, लोगों की आवाजाही पर पूरी रोक

शेयर करें:

महाराष्ट्र में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य में नए प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर दी है. ये प्रतिबंध कल यानी बुधवार से लागू होंगे. पूरे राज्य में गैरजरूरी आवाजाही पर रोक लगेगी. पूरे राज्य में धारा 144 लगाया जा रहा है.

सीएम ने कहा कि अब सख्त कदम उठाने का समय है. सीएम ने कहा कि हम लॉकडाउन नहीं लगा रहे हैं लेकिन ये प्रतिबंध लॉकडाउन जैसे ही हैं. हम जानते हैं कि रोजी-रोटी जरूरी हैं, लेकिन अभी सभी का जीवन बचाना जरूरी है.

उन्होंने कहा कि मुंबई लोकल, बसें और अन्य सुविधाएं बंद नहीं हो रहीं है लेकिन इनमें केवल जरूरी सेवाओं से जुड़े लोग ही यात्रा करेंगे. कल रात आठ बजे से ये प्रतिबंध लागू होंगे. सीएम ने कहा कि लोकल ट्रेन चलती रहेगी. पब्लिक ट्रांसपोर्ट भी जारी रहेगा. आवश्यक दुकानें जैसे मेडिकल स्टोर, अस्पताल, बस, ऑटो, चलेंगे, लेकिन बाकी सब बंद रहेगा. लॉकडाउन जैसी स्थिति की जा रही है.

राज्य की जनता को संबोधित करते हुए सीएम ठाकरे कहा कि पहले ऐसा लगा कि हम कोरोना से जंग जीत गए हैं, लेकिन अब स्थिति गंभीर हो गई है. उन्होंने कहा कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप सामने सभी सुविधाएं कम पड़ रही हैं.. उन्होंने राज्य बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने के बारे में बात करते हुए कहा कि कोविड-19 का प्रकोप कम होने के बाद हम दोबारा परीक्षा ले सकते हैं.

अगर अभी कठोर कदम नहीं उठाया गया तो स्थिति हाथ से निकल जाएगी. सीएम ने कहा कि हम हर रोज 1200 टन ऑक्सीजन का उत्पादन कर रहे हैं. इसमें से 900 से 1000 टन ऑक्सीजन कोविड के मरीजों के इलाज में लगा रहे हैं.

सीएम ने कहा कि हमने पीएम मोदी से कहा है कि आगे हमें और ऑक्सीजन की जरूरत पड़ सकती है. इससे पहले राज्य सरकार ने तमाम हितधारकों और विपक्षी नेताओं के साथ गहन विचार-विमर्श किया. लॉकडाउन का फैसला राज्य में कोरोना बेतहाशा बढ़ते मामलों को देखते हुए किया गया है.

केवल मुंबई में पिछले 24 घंटे 7898 मामले आए हैं. राज्य के प्रमुख शहर पुणे और नागपुर में भी कोरोना का भीषण प्रभाव है. पूरे राज्य से हर रोज करी 60 हजार मामले सामने आ रहे हैं.